लखनऊ : उन्नाव दुष्कर्म केस की पीड़िता को इलाज के लिए दिल्ली स्थानांतरित करने के सुप्रीम कोर्ट के आदेश के एक घंटे बाद किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी (केजीएमयू) ने बयान जारी कर कहा कि पीड़िता की हालत में सुधार हो रहा है। हलांकि, उसके वकील महेंद्र सिंह की हालत में कोई सुधार नहीं हो पाया है। वह अभी भी गहरे कोमा में हैं।

किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी ने एक बयान में कहा, "महिला मरीज की हालत में सुधार हो रहा है। वह बातों को सुन पा रही है और आंखें खोल रही है। उसका बुखार भी कम हो रहा है। उसे जल्द वेंटिलेटर से बाहर निकाले जाने की तैयारी की जाएगी।"

बयान में आगे कहा गया है, "हालांकि उसके रक्तचाप को नियंत्रित करने के लिए हमें उसे दवाइयां देनी पड़ रही हैं।"

28 जुलाई को सड़क दुर्घटना में गंभीर रूप से घायल हो जाने के बाद लखनऊ स्थिति किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी के ट्रामा सेंटर में उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता और उसके वकील का इलाज चल रहा है।

जारी बयान में कहा गया है कि दोनों मरीजों की हालत गंभीर है, लेकिन स्थिर है। इस बीच डॉक्टरों ने कहा है कि उन्हें इस बात की कोई जानकारी नहीं है कि दुष्कर्म पीड़िता को कब एयर लिफ्ट के माध्य से दिल्ली ले जाया जाएगा

इसे भी पढ़ें सेंगर को तिहाड़ जेल में शिफ्ट करने का आदेश, 7 अगस्त को दोबारा कोर्ट में होगी पेशी

रायबरेली के लिए यात्रा करते वक्त पीड़िता की कार को एक ट्रक ने टक्कर मार दी थी, जिसमें उसके दो रिश्तेदारों की मौत हो गई थी। जबकि वह और उसका वकील दुर्घटना में गंभीर रूप से घायल हो गए थे।

दुष्कर्म के आरोपी विधायक कुलदीप सेंगर और नौ अन्य लोगों के खिलाफ पुलिस ने हत्या का मामला दर्ज किया है।