नई दिल्ली : उन्नाव रेप केस के आरोपियों कुलदीप सिंह सेंगर और शशि सिंह को रविवार देर शाम को दिल्ली ले जाया गया। सुप्रीम कोर्ट के निर्देश के बाद सोमवार से दिल्ली के तीस हजारी कोर्ट में आरोपी विधायक कुलदीप सेंगर के खिलाफ सुनवाई भी शुरू होगी। खबर यह भी है कि कुलदीप सेंगर को तिहाड़ जेल में रखा जाएगा। बता दें इससे पहले सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद सीबीआई की टीम ने सीतापुर जेल पहुची थी। सीबीआई ने यहां सेंगर से उन्नाव केस में उसके कनेक्शन को लेकर उससे पूछताछ की थी।

विक्टिम और उसके वकील के लिए भगवान से कर रहा प्रार्थना

इस दौरान वह पुलिस की गाड़ी में बैठे- बैठे उसने मीडिया से बात की। मीडिया से बातचीत में कुलदीप सिंह सेंगर मीडिया से कहा कि ये दुर्घटना है या साजिश इसकी व्यापक जांच होनी चाहिए। सीबीआई जांच कर रही है मुझे सीबीआई और मीडिया दोनों पर भरोसा है। यह सब राजनीतिक साजिश है जिसके तहत मुझे फंसाया जा रहा है। हम मदद करने के लिए पैदा हुए गरीबों की मदद, कमजोर की मदद, समाज के हर वर्ग की मदद का काम करने का काम हमने किया है।

वहीं जब मीडिया ने रेप विक्टिम को लेकर सवाल पूछा तो उसने कहा कि मैं ईश्वर से भगवान से प्रार्थना करता हूं पीड़िता और उसका वकील जल्दी से जल्दी स्वस्थ हो जाए।

ट्रक डाइवर ने बताई हादसे की वजह

ट्रक ड्राइवर ने बताया कि घटना वाले दिन वह रायबरेली में रेत उतारने के बाद वापस आ रहा था, तभी उसने एक कार को उल्टी दिशा से आते हुए देखा। उसने कहा कि वह 50 से 55 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से ट्रक चला रहा था। उसने कहा कि उसने ब्रेक मारने की कोशिश की, लेकिन ट्रक फिसल गया और उसका आगे का हिस्सा बाई ओर मुड़ गया, जबकि उसका पीछे का हिस्सा दाई ओर मुड़ गया और कार से जा टकराया।

ट्रक ड्राइवर ने सीबीआई को यह भी बताया कि वह फतेहपुर का रहने वाला है और पिछले चार सालों से ट्रक चला रहा है। उसका उन्नाव रेप मामले से किसी भी प्रकार का कोई संबंध नहीं है और वह इसमें शामिल किसी को भी नहीं जानता है। उसने सीबीआई से कहा कि वह शराब नहीं पीता है, लेकिन तंबाकू खाता है।

इसे भी पढ़ें

उन्नाव केस : इस वजह से नाजुक हालत में है रेप विक्टिम, नहीं आया होश, बॉडी में 6 बड़े फ्रैक्चर

क्या है मामला

कुलदीप सेंगर पर आरोप है कि जब पीड़िता नौकरी की तलाश में चार जून 2017 को उनसे मिलने गई तब कथित तौर पर विधायक ने उसके साथ रेप किया। सुप्रीम कोर्ट ने पिछले हफ्ते ही उन्नाव दुष्कर्म से जुड़े सभी मामले दिल्ली स्थानांतरित करने के आदेश दिए हैं।