लखनऊ। रायबरेली में 28 जुलाई को हुए हादसे के बाद से ही उन्नाव रेप विक्टिम की हालत नाजुक बनी हुई है। विक्टिम केजीएमयू के आईसीयू में बेसुध पड़ी हुई है। बताया जा रहा है कि विक्टिम अभी भी वेंटीलेटर पर पड़ी हुई है। डॉक्टरों का कहना है कि लड़की का राइट पार्ट सबसे ज्यादा डैमेज है। कम से कम 6 जगह फ्रैक्चर हुए हैं। इसके बावजूद वही जिंदगी की लड़ाई लड़ रही है।

पीड़िता के शरीर में है 5 बड़ी चोटें, सुधार को लेकर डॉक्टर चिंतित

डॉक्टरों ने बताया कि पीड़ित लड़की को जबड़ा, दाहिनी कोहनी, कॉलर बोन, कूल्हे की हड्डी और दाहिने पैर की हड्डी में फ्रैक्चर है। जांघ की हड्डी टूट जाने की वजह से करीब डेढ़ लीटर खून बह गया था। कभी-कभी इंटरनल चोट गंभीर होती हैं, जो स्कैन नहीं हो पातीं। हम पूरी कोशिश कर रहे हैं कि उसे बचा लिया जाए। 1 अगस्त को उसे वेंटीलेटर से हटाने की कोशिश की गई थी, लेकिन उसे वापस वेंटीलेटर पर ही लाना पड़ा। उम्मीद है कि 24 घंटे में हालत में कुछ सुधार हो जाए।

केजीएमयू मीडिया सेल इंचार्ज डॉ. संदीप तिवारी ने बताया कि स्पेशलिस्ट डॉक्टरों की टीम लड़की के इलाज में जुटी हुई है। लेकिन एक्सीडेंट के बाद जिस हालत में पीड़िता हॉस्पिटल पहुंची उस स्थिति मेंहालत में जल्दी सुधार नहीं होता है। अभी हम यह नहीं कह सकते हैं कि वह ठीक नहीं है, लेकिन यह भी नहीं कह सकते कि वह ठीक नहीं होगी।

इसे भी पढ़ें

उन्नाव रेप विक्टिम की हालत नाजुक, पार्टी से निकाले गए आरोपी कुलदीप सेंगर

विधायक सेंगर पर रेप का आरोप

उन्नाव में लड़की के साथ रेप की यह वारदात साल 2017 की है। आरोप है कि विधायक सेंगर और अन्य ने नौकरी दिलाने के बहाने दुष्कर्म किया। विक्टिम के साथ जब यह हैवानित की वारदात की गई तब वह नाबालिग थी। बाद में विक्टिम के पिता की पुलिस कस्टडी में मौत हो गई। हादसे को लेकर परिवार ने विधायक सेंगर पर और उनके खास लोगों पर आरोप लगाया है।