नयी दिल्ली : भारतीय जनता पार्टी कर्नाटक में सरकार बनाने के लिए किसी जल्दबाजी में नहीं है क्योंकि कांग्रेस-जद (एस) के 17 बागी विधायकों के भाग्य का फैसला अभी नहीं हुआ है। राज्य विधानसभा के अध्यक्ष ने बागी विधायकों के इस्तीफों या दोनों दलों द्वारा उन्हें अयोग्य घोषित किए जाने के आवेदन पर अभी निर्णय नहीं लिया है।

भाजपा के सूत्रों ने कहा कि विधानसभा अध्यक्ष रमेश कुमार द्वारा निर्णय लेने या इस मुद्दे पर सुनवाई कर रहे उच्चतम न्यायालय द्वारा कोई फैसला लिए जाने के बाद ही पार्टी अगला कदम उठाएगी। उन्होंने कहा कि पार्टी का केंद्रीय नेतृत्व विकल्पों की तलाश कर रहा है। इस तरह के विचार भी सामने आ रहे हैं कि भाजपा को राज्य में विधानसभा चुनाव कराकर स्पष्ट बहुमत हासिल करना चाहिए, लेकिन कई नेताओं का मानना है कि पार्टी को सरकार बनाने का दावा करना चाहिए।

विधानसभा अध्यक्ष द्वारा लिए गए निर्णय का अगली सरकार पर असर पड़ेगा। जब तक बागी विधायक सदन के सदस्य बने रहते हैं, भाजपा के पास स्पष्ट बहुमत नहीं होगी और इसके कुछ नेताओं को आशंका है कि इस तरह की स्थिति में अगली सरकार बनाने के लिए आगे बढ़ना ठीक नहीं है। मुख्यमंत्री पद के मुख्य दावेदार भाजपा नेता बी एस येदियुरप्पा को 2018 के विधानसभा चुनावों के बाद मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देना पड़ा था क्योंकि सबसे बड़ी पार्टी होने के आधार पर सरकार बनाने का दावा करने के बावजूद वह बहुमत नहीं जुटा सके थे।

बहरहाल, पार्टी के एक नेता ने कहा कि भाजपा के लिए अब चीजें ज्यादा आसान हैं क्योंकि बागी विधायकों ने कांग्रेस- जद (एस) की सरकार गिराकर अपना कार्ड खेल दिया है। उन्होंने कहा, 'हम अब भी इंतजार करेंगे और देखेंगे। जल्दबाजी क्या है।'' येदियुरप्पा अगली सरकार बनाने का दावा करने के लिए इच्छुक हैं, लेकिन पार्टी का केंद्रीय नेतृत्व फूंक- फंककर कदम रख रहा है।

इसे भी पढ़ें :

बीएस येदियुरप्पा होंगे कर्नाटक के नए CM ?

बेटे की सत्ता जाने पर एचडी देवगौड़ा का छलका दर्द, भाजपा के लिए फूटे कड़वे बोल

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह सहित पार्टी के शीर्ष नेता मामले पर जल्द निर्णय करेंगे। राज्य में एच डी कुमारस्वामी की सरकार विश्वास प्रस्ताव हारने के कारण मंगलवार को गिर गई। विधानसभा में उसे 99 मत हासिल हुए जबकि विरोध में 105 वोट पड़े जिससे करीब तीन हफ्ते से चल रहे राजनीतिक ड्रामे का पटाक्षेप हो गया।