लखनऊ : उत्‍तर प्रदेश के विभिन्‍न हिस्‍सों में पिछले 24 घंटे के दौरान खराब मौसम के बीच आकाशीय बिजली गिरने और सर्पदंश की घटनाओं में 34 लोगों की मौत हो गयी। मुख्यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने मारे गये लोगों के परिजनों को चार-चार लाख रुपए की राहत राशि तत्काल देने का निर्देश दिया है।

प्रदेश के राहत आयुक्‍त कार्यालय से प्राप्‍त रिपोर्ट के मुताबिक पिछले 24 घंटे के दौरान आकाशीय बिजली और सर्पदंश की घटनाओं में 34 लोग मारे गये हैं। सबसे ज्‍यादा सात-सात मौतें कानपुर नगर और फतेहपुर में आकाशीय बिजली की चपेट में आने से हुई हैं।

इसके अलावा झांसी में पांच और जालौन में चार लोगों की वज्रपात से मौत हो गयी। हमीरपुर में आकाशीय बिजली गिरने की घटनाओं में तीन, गाजीपुर में दो-दो, चित्रकूट, कानपुर देहात, प्रतापगढ़, जौनपुर और देवरिया में एक-एक व्‍यक्ति की मौत हो गयी।

वहीं, सर्पदंश से अम्‍बेडकर नगर में एक व्‍यक्ति की मौत हुई। इस बीच, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने विभिन्न जनपदों में आकाशीय बिजली की चपेट में आने से लोगों की मौत पर गहरा शोक व्यक्त किया है।

इसे भी पढ़ें :

योगीजी, उत्तर प्रदेश की गोशालाओं में मर रही हैं गाय, अब तक 36 गायों की मौत

UP : IAS से बेटी की शादी कराना चाहते थे विधायक पिता, पति की टूट चुकी है सगाई

उन्होंने इस आपदा में मारे गये लोगों की आत्मा की शान्ति की कामना करते हुए उनके परिजनों के प्रति संवेदनाएं भी व्यक्त की। राज्य सरकार के एक प्रवक्ता ने बताया, ‘‘मुख्यमंत्री ने सम्बन्धित जिलाधिकारियों को प्राकृतिक आपदाओं में मारे गये लोगों के परिजनों को चार-चार लाख रुपए की राहत राशि तत्काल वितरित करने के निर्देश दिए हैं।''

उन्होंने इन घटनाओं में घायल लोगों की समुचित चिकित्सा व्यवस्था किए जाने के भी निर्देश दिये हैं और यह भी कहा है कि राहत कार्यों में किसी भी प्रकार की ढिलाई बरदाश्‍त नहीं होगी। उन्होंने कहा, ‘‘संकट की इस घड़ी में राज्य सरकार पीड़ितों के साथ है और उनकी हर सम्भव मदद के लिए तत्पर है।''