बरेली : इनदिनों देश भर में साक्षी मिश्रा और अजितेश की लव स्टोरी पर चर्चाएं हो रही है। इसी बीच शनिवार को अजितेश के परिवारवाले वापस अपने घर बरेली लौटे हैं। बताया जा रहा है कि अजितेश के दादा-दादी और बहन कार से यहां पहुंचे और आस-पड़ोस के लोगों से निगाहें बचाते हुए चुपचाप अपने घर में घुसे और फिर बाहर नहीं निकले। वहां मौजूद मीडिया ने घर के अंदर दाखिल होने वक्त परवार से बात करने की कोशिश की लेकिन उन्होंने किसी से बात नहीं की।

इससे पहले शुक्रवार को साक्षी मिश्रा के विधायक पिता राजेश मिश्रा ने पहली बार इस पर अपनी चुप्पी तोड़ी थी। बरेली से भाजपा विधायक राजेश मिश्रा ने इस मामले में अपनी बात रखी है। बातचीत में उनका दर्द छलक आया और उन्होंने कहा कि मैं घर से बाहर नहीं निकलना चाहता हूं। मेरी भावनाएं आहत हुई हैं, मेरा पूरा परिवार सदमे में है।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार राजेश मिश्रा ने कहा कि बेटी के लिए क्या बोलूं, मैं उस पर कोई टिप्पणी करना नहीं चाहता हूं। इस घटना को याद करना ही मेरे पूरे परिवार के लिए दुखद है। मुझे विधायक होने के चलते विधानसभा सत्र में होना चाहिए था लेकिन मैं घर से भी बाहर नहीं निकलना चाहता हूं।

इसे भी पढ़ें :

साक्षी के विधायक पिता ने खुद को किया घर में कैद,  कुछ ऐसे छलका दिल का ये दर्द

अब विधायक राजेश मिश्रा को मिल रही जान से मारने की धमकी, वायरल हो रहा ऑडियो

साथ ही उन्होंने कहा कि इस बात का फायदा उठा कर कुछ नेताओं और अधिकारियों की लॉबी ने मेरी छवि खराब करने की कोशिश की है। यह सब मेरा राजनीतिक करियर खत्म करने के लिए किया गया है।

उन्होंने इस पूरी घटना के पीछे विरोधियों का हाथ बताते हुए कहा कि अजितेश को मेरे परिवार के खिलाफ बोलने के ‌लिए उकसाया गया। गौरव अरमान के साथ ही दो वरिष्ठ नेता अजितेश और उसके परिवार की इस मामले में सहायता कर रहा है।

साक्षी मिश्रा का वीडियो वायरल होने की बात पर विधायक ने कहा कि एक नौकरशाह की पत्नी ने साक्षी पर वीडियो रिकॉर्ड करने का दबाव बनाया था। महिला ने राजनीतिक महत्वाकांक्षा के चलते साक्षी को मेरे और परिवार के खिलाफ बोलने के लिए उकसाया गया। मैंने साक्षी को कुछ भी नहीं बोला था तो फिर वह वीडियो क्यों बनाया गया और उसे मीडिया में क्यों दिया गया।