प्रयागराज। यूपीए सरकार में विदेश मंत्री और कानून मंत्री रह चुके सलमान खुर्शीद पत्नी लुईस खुर्शीद पर जल्द ही बड़ी कार्रवाई हो सकती है। दरअसल उन पर कुल 17 केस दर्ज हैं। यह सभी मामले धोखाधड़ी के हैं। लुईस खुर्शीद द्वारा प्रयागराज में मौजूद सांसद, विधायक स्पेशल कोर्ट में सभी 17 केस में अग्रिम जमानत अर्जी दाखिल की गई थी। इस पर स्पेशल कोर्ट ने मामले पर सुनवाई करते हुए स्पेशल जज पवन कुमार तिवारी ने उनकी याचिका खारिज कर दी है। कोर्ट का कहना है कि अग्रिम जमानत दिए जाने का कोई आधार नहीं है।

सलमान खुर्शीद ने कहा, जी हां हमारे दामन पर लगे हैं खून के धब्बे

क्या है मामला?

सामाजिक सेवा के लिये विख्यात रहे डॉ. जाकिर हुसैन ट्रस्ट का संचालन प्रयागराज शहर समेत अलग-अलग 17 शहरों में किया जा रहा है। इस ट्रस्ट की ट्रस्टी पूर्व विधायक लुईस खुर्शीद भी हैं। स्पेशल कोर्ट में आई पत्रावली के अनुसार भारत सरकार के सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय ने डॉ. जाकिर हुसैन ट्रस्ट को 71.50 लाख रुपये का अनुदान दिया था। यह अनुदान विकलांगों के लिए उपकरण वितरण के लिए था। कुछ समय बाद जब उपकरण वितरण के सत्यापन का क्रम शुरू हुआ तो बेहद ही चौंकाने वाला मामला सामने आया। पता चला कि कूटरचित कागजात बनाकर सरकार की अनुदान राशि हड़प ली गयी है।