कोलकाता : सर्वोच्च न्यायालय में तीन तलाक के मुद्दे पर याचिका दायर कर सुर्खियों में आने वाली पश्चिम बंगाल की इशरत जहां ने गुरुवार को अपने खिलाफ उत्पीड़न व जान का खतरा बताते हुए पुलिस में एक शिकायत दर्ज कराई है।

इशरत जहां पिछले साल भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) में शामिल हुई थीं। शिकायत के अनुसार उन्होंने भाजपा के एक धार्मिक अनुष्ठान 'हनुमान चालीसा पाठ' कार्यक्रम में भाग लिया था, जिसके बाद उनके समुदाय के लोगों ने कार्यक्रम में हिजाब पहनकर भाग लेने पर उनकी आलोचना शुरू कर दी।

जहां के अनुसार, वह इस कार्यक्रम में शामिल हुईं, क्योंकि कई हिंदू लोग भी नमाज पढ़ने के कार्यक्रमों में भाग लेते हैं और उन्हें इसमें कुछ भी गलत नहीं दिखता है।

जहां ने कहा, "अब मुझ पर दबाव डाला जा रहा है और लोग मुझे पीटने और घर से बाहर निकालने का सुझाव दे रहे हैं। मेरे साथ दुर्व्यवहार किया जा रहा है और गंभीर परिणाम भुगतने की धमकी दी जा रही है।" उन्होंने कहा, "मैं अपने बेटे के साथ अकेली रहती हूं और मुझे कुछ भी हो सकता है।" इशरत जहां ने बुधवार को हावड़ा के गोलाबाड़ी पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज कराई।

इसे भी पढ़ें :

ट्रिपल तलाक मामले को लेकर चर्चित याचिकाकर्ता इशरत जहां BJP में शामिल

हावड़ा शहर पुलिस के एक अधिकारी ने कहा, "हमें इशरत जहां की शिकायत मिली है। उन्होंने धमकियों के बारे में बताया है और अपने ससुराल पक्ष के लोगों का नाम लिया है। उनकी शिकायत के आधार पर हम आवश्यक कदम उठाएंगे।" सर्वोच्च न्यायालय में तीन तलाककेस की याचिकाकर्ताओं में से एक रहीं इशरत जहां को उनके पति ने 2014 में दुबई से फोन पर ही तलाक दे दिया था।