लखनऊ : उत्तर प्रदेश के बरेली के भाजपा विधायक की बेटी साक्षी मिश्रा ने अपने घरवालों के खिलाफ जाकर एक दलित लड़के से शादी कर ली। बेटी ने अपने विधायक पिता से जान का खतरा बताया। पिता ने सार्वजनिक रूप से कह दिया कि उनकी बेटी को उनसे और परिवार से कोई खतरा नहीं है। लेकिन इसके बावजूद साक्षी-अजितेश और विधायक राजेश मिश्रा लगातार खबरों में बने रहे। चैनलों पर बड़े-बड़े डिबेट चले।

मामला इतना बढ़ गया कि विधायक राजेश मिश्रा को कहना पड़ गया कि अगर बेटी की शादी को लेकर उन्‍हें ज्यादा परेशान किया गया, तो वो अपनी पत्‍नी के साथ खुदकुशी कर लेंगे। इसके बाद से सोशल मीडिया पर साक्षी ट्रोल होने लगीं। साथ ही सोशल मीडिया यूजर्स न्यूज चैनल्स पर भी अपनी नाराजगी जाहिर कर रहे हैं।

फिर विधायक राजेश मिश्रा के पक्ष में हजारों लोगों ने ट्वीटर और फेसबुक पर मोर्चा संभाल लिया। पूरा दिन विधायक के पक्ष में चार हैशटेग टॉप पर रन करने लगे।

लोग सवाल पूछ रहे हैं कि जब विधायक ने साफ कह दिया कि उसे बेटी के घर से भागकर शादी करने पर कोई गिला-शिकवा नहीं है तो उन्हें क्यों प्रताड़ित किया जा रहा है। लोगों का आरोप है कि एक साजिश के तहत विधायक राजेश मिश्रा और उनके परिवार को बदनाम किया जा रहा है। इस बहस में आम आदमी ही नहीं अलग-अलग पेशे से जुड़े कद्दावर लोग भी शामिल हैं।

लोग पूछ रहे हैं कि क्यों न्यूज चैनल और उनकी एंकर विधायक को परेशान कर रही हैं। कई लोगों ने तो एंकर पर साजिश में शामिल होने तक के आरोप लगाए हैं। लोगों का कहना है कि ऐसा करने के पीछे कोई राजनीतिक चाल है। विधायक की बेटी साक्षी कुछ लोगों के हाथों में खेल रही है। उसे मोहरा बनाकर उनके पिता के पॉलिटिकल करियर को बर्बाद किया जा रहा है।

इसे भी पढ़ें :

कोर्ट में शादी कर सकती है BJP विधायक की बेटी, लगाएंगे ये अर्जी

भाजपा विधायक की बेटी की शादी में आया नया मोड़, महंत बोले- फेक है मैरिज सर्टिफिकेट

सबसे बड़ी बात ये है कि शनिवार को दिनभर ट्वीटर पर यह मामला चार टॉप हैशटेग के साथ छाया रहा। देर रात नौ बजे तक भी चारों हैशटेग सबसे ऊपर रन कर रहे थे। वहीं, दूसरी ओर सोशल मीडिया पर न्यूज चैनलों के खिलाफ गुस्सा देखकर खबरें हटा ली गई हैं।

दरअसल, शुक्रवार को तमाम न्यूज चैनलों ने विधायक के खिलाफ उनकी बेटी को स्टूडियो में बैठाकर लाइव शो किए थे। जिसमें बार-बार विधायक को फोनो पर लेकर बेटी से उल्टे-सीधे सवालात करवाए जा रहे थे। विधायक कई बार गुजारिश करते रहे कि उन्हें परेशान न किया जाए। उनसे साक्षी या उसके पति को कोई खतरा नहीं है।