सिंदूर लगाने पर जारी हुआ था फतवा, अब जगन्नाथ रथयात्रा में शामिल होंगी नुसरत जहां

नुसरत जहां (सौ. सोशल मीडिया) - Sakshi Samachar

नई दिल्ली। 17वीं लोकसभा की सबसे ग्लैमरस सांसद नुसरत जहां जगन्नाथ यात्रा में चीफ गेस्ट होंगी। इस बात की जानकारी खुद नुसरत ट्वीट के जरिए दी है। नुसरत ने कहा कि उन्हें कोलकाता इस्कॉन टेंपल की तरफ से जगन्नाथ रथयात्रा में शामिल होने का न्योता मिला है, ये उनके लिए सौभाग्य की बात है। वह पुरी जरूर जाएंगी।

इसके अलावा बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी भी चीफ गेस्ट के तौर पर शामिल होंगी और 4 जुलाई को भगवान जगन्नाथ की रथ की रस्सी खींचकर रथयात्रा का शुभारंभ करेंगी। इसके बाद भगवान जगन्नाथ, उनके भाई बलभद्र और बहन सुभद्रा की आरती की जाएगी। इस दौरान उनके पति निखिल जैन भी साथ होंगे।

इस्कॉन ने की तारीफ

इस्कॉन के प्रवक्ता ने नुसरत को बतौर चीफ गेस्ट बुलाए जाने के सवाल पर कहा, 'हम सभी धर्मों को मानने वाले लोग हैं। हमें लगता है कि नुसरत के विचार हमारे विचारों से मिलते हैं। वह भी सभी धर्मों का आदर करती हैं। वह निश्चित ही आज के युवाओं को अपने विचारों से प्रभावित करेंगी।

4 जुलाई से 12 जुलाई तक चलेगी रथयात्रा

सप्तपुरियों में से एक जगन्नाथपुरी की रथयात्रा इस साल 4 जुलाई 2019 को होगी। रथयात्रा 12 जुलाई तक चलेगी। इस यात्रा में भगवान विष्णु के अवतार भगवान जगन्नाथ, उनके भाई बलभद्र और बहन सुभद्रा रथ पर सवार होकर निकलते हैं। सैकड़ों साल से मनाए जाने वाले इस उत्सव में लाखों की संख्या में श्रद्धालु शामिल होने के लिए पुरी पहुंचते हैं। रथयात्रा उत्सव के दौरान भगवान जगन्नाथ को रथ पर बिठाकर पूरे नगर में भ्रमण कराया जाता है। आठ दिनों तक जगन्नाथ के ठहरने के दौरान रोजाना पुरी की तरह उनका श्रृंगार होगा। इस दौरान उन्हें गजोधरन वेश, पद्म वेश और कृष्ण बलराम वेश में सजाया जाएगा. भगवान जगन्नाथ को छप्पन भोग व खाजा का भोग लगेगा, जिसे बनाने के लिये जगन्नाथ पुरी के कारीगर आ रहे हैं।

इसे भी पढ़ें

नुसरत जहां के पहनावे पर विवाद, सवाल उठाने वालों को मिला करारा जवाब

क्या है रथयात्रा की थीम?

इस साल 48वें रथयात्रा में इस्कॉन की ओर से रथयात्रा की थीम बुजुर्गों पर आधारित है। 'उनका ख्याल रखो, जिन्होंने हमारा ख्याल रखा' इस थीम पर आधारित पोस्टर और बैनर शहरभर में लगाए गए हैं। बुजुर्गों की मदद के लिए बच्चों की एक अलग टीम भी तैयार की गई है।

Advertisement
Back to Top