International Yoga Day 2019: पीएम मोदी ने योग दिवस की दी शुभकामनाएं, कहा-योग सबका है, सब योग के हैं  

आम जन के साथ योग करते हुए पीएम मोदी   - Sakshi Samachar

रांची : दुनियाभर में आज 5वां अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाया जा रहा है। इस बार अंतरराष्ट्रीय योग दिवस 2019 के लिए थीम ‘क्लाइमेट एक्शन’ है। इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने झारखंड की राजधानी रांची से मुख्य कार्यक्रम का नेतृत्व किया।


पीएम मोदी ने रांची के प्रभात तारा मैदान में लगभग 40 हजार लोगों के साथ योग किया।मोदी ने कहा, "योग जाति, धर्म, क्षेत्र और किसी भी सीमा से परे है।" उन्होंने कहा, "योग में शराब की लत से छुटकारा पाने और मधुमेह का समाधान है।"

उन्होंने योग में शोध की आवश्यकता पर जोर दिया ताकि दुनिया को इसके लाभों के बारे में नई जानकारियों से अवगत कराया जा सके। उन्होंने देश के युवाओं में दिल से संबंधित समस्याओं के बारे में भी चिंता व्यक्त की। प्रधानमंत्री ने कहा, "योग हमेशा शांति और सद्भाव से जुड़ा रहा है।

मोदी ने कहा, "इस वर्ष, योग का विषय हार्ट केयर है। देश में विशेष रूप से युवा पीढ़ी के बीच दिल से संबंधित समस्याओं में कई गुना वृद्धि हुई है। योग को निवारक उपाय के रूप में अपनाया जाना चाहिए।"


वहीं, आज देश भर में लगभग 13 करोड़ लोग अलग-अलग जगहों पर आयोजित होने वाले कार्यक्रमों में शामिल होंगे। पीएम मोदी ने कहा कि, मैं अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर, भारत और दुनिया भर में, आप सभी को अपनी शुभकामनाएं देता हूं। आज योग दिवस मनाने के लिए दुनिया के विभिन्न हिस्सों में लाखों लोग इकट्ठा हुए हैं।


रांची में योग दिवस के कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आम लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री ने यहां कहा कि आज देश-दुनिया के अनेक हिस्सों में लाखों लोग योग दिवस मना रहे हैं।दुनियाभर में योग के प्रसार के लिए मीडिया के साथी, सोशल मीडिया के लोग अहम भूमिका निभा रहे हैं। झारखंड में योग दिवस के लिए आना बहुत सुखद अनुभव है ।

पीएम मोदी ने कहा कि हम सभी योग के महत्व को अच्छी तरह से जानते हैं। यह हमेशा से ही हमारी संस्कृति का एक महत्वपूर्ण हिस्सा रहा है। लेकिन अब हम सभी को योग के अभ्यास को दूसरे स्तर पर ले जाना होगा।


आज के बदलते हुए समय में, बीमारियों से बचाव के साथ-साथ स्वस्थ्यता पर हमारा फोकस होना जरूरी है। यही शक्ति हमें योग से मिलती है, यही भावना योग की है, पुरातन भारतीय दर्शन की है। योग सिर्फ तभी नहीं होता जब हम आधा घंटा जमीन या मैट पर होते हैं।

पीएम मोदी ने कहा कि समारोह में शामिल होने के लिए दुनिया भर में पीपीएल को धन्यवाद देता हूं। दुनिया भर में, समर्पित योग चिकित्सकों द्वारा सूर्य की पहली किरणों का स्वागत किया जा रहा है, यह एक सुंदर दृश्य है। मैं आप सभी से योग को अपनाने और इसे अपनी दिनचर्या का अभिन्न अंग बनाने का आग्रह करता हूं।


उन्होंने यहां कहा कि लोगों को आजीवन योगाभ्यास करना चाहिए और सरकार भी इसे निरोधात्मक उपचार के स्तंभ के तौर पर स्थापित करने के लिये काम कर रही है।

पीएम मोदी ने कहा कि योग से शांति और सौहार्द्र जुड़े हैं और दुनिया भर में लोगों को इसका अभ्यास करना चाहिए।

प्रधानमंत्री ने युवाओं के दिल की बीमारियों के चपेट में आने के बढ़ते मामलों के मद्देनजर कहा, “योग इस बीमारी के रोकथाम में अहम भूमिका निभा सकता है इसलिये इस साल की थी ‘योग फॉर हॉर्ट' (हृदय के लिये योग) रखी गई है।

Advertisement
Back to Top