नई दिल्ली: बीजेपी के कोटा से सांसद ओम बि़रला लोकसभा अध्यक्ष चुने गए हैं। ओम बिरला का निर्विरोध निर्वाचन हुआ है। ओम बि़रला की संगठन में अच्छी पकड़ रही है।

संख्याबल के लिहाज से ओम बि़रला के लोकसभा अध्यक्ष बनने में कोई अड़चन नहीं आई।

इससे पहले एसएस अहलुवालिया का नाम भी लोकसभाध्यक्ष के लिए लिया जा रहा था। हालांकि इन सबको पीछे छोड़ते हुए ओम बि़रला ने बाजी मार ली।

पीएम मोदी ने दी बधाई

ओम बिरला को प्रधानमंत्री ने निर्वाचन पर बधाई दी। साथ ही शुभकामना देते हुए कहा कि नए लोकसभा अध्यक्ष हमेशा हंसते रहें। साथ ही प्रधानमंत्री ने उम्मीद जाहिर की लोकसभा के सदस्य सदन को सुचारू रूप से चलाने के लिए पूरा सहयोग करेंगे।

पीएम ने यहां तक कहा कि सत्ताधारी पार्टी के लोग भी अगर नियमों का उल्लंघन करते हैं तो उन पर भी लोकसभा अध्यक्ष कार्रवाई करने से न हिचकें।

यह भी पढ़ें:

लोकसभा अध्यक्ष ने सांसदों को पत्र लिखा, सदन में व्यवधान का चक्र खत्म करने की अपील की

ओम बिरला का परिचय

ओम बिरला की आधिकारिक व्यक्तिगत वेबसाइट के मुताबिक उनका पूरा नाम ओम कृष्ण बिरला है। कोटा में जन्मे बिरला फिलहाल 59 वर्ष के हैं।

इन्होंने वाणिज्य विषय से स्नातकोत्तर की पढ़ाई की है। अंग्रेजी, हिंदी और संस्कृत भाषाओं का इन्हें मुकम्मल ज्ञान है। अभी ये रोजस्थान के कोटा-बूंदी संसदीय क्षेत्र का प्रतिनिधित्व करते हैं।

राजनीतिक करियर की बात करें तो बिरला राजस्थान सरकार में 2004-08 के बीच संसदीय सचिव रहे। 2004 में आई कोटा में भयंकर बाढ़ के दौरान ओम बिरला काफी सक्रिय रहे थे। बिरला अभी कई सामाजिक और स्वयंसेवी संस्थाओं से जुड़े हैं।

महत्वाकांक्षी ग्रीन कोटा अभियान चलाकर बिरला ने जिले में करीब एक लाख पेड़ लगवाए। धार्मिक महत्व वाले तुलसी के पौधे का घर घर जाकर रोपण किया।

बीजेपी में ओम बिरला की अच्छी पकड़ मानी जाती है। ये लगातार 6 सालों तक बीजेपी युवा मोर्चा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रहे। इसके अलावा राजस्थान भारतीय युवा मोर्जा के प्रदेश उपाध्यक्ष भी रहे। वे 2003, 2008 व 2013 में राजस्थान विधानसभा के लिए चुने गए।