नयी दिल्ली: मुखर्जी नगर थाने के बाहर सोमवार की रात बड़ी संख्या में सिख समुदाय के लोग जमा होकर एक टेम्पो चालक की पिटाई करने वाले सभी पुलिसकर्मियों को बर्खास्त करने की मांग की। पुलिस ने यह जानकारी दी। रविवार की शाम, उत्तर पश्चिमी दिल्ली के मुखर्जी नगर में टेम्पो चालक और पुलिसकर्मियों के बीच हुई झड़प का कथित वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। जिस इलाके में यह घटना हुयी, वहां माहौल तनावपूर्ण बना हुआ है।

वहीं मुखर्जी नगर में बुजुर्ग सिख की पुलिस द्वारा पिटाई मामले में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने पीड़ित परिवार से मुलाकात की। पीड़ित बुजुर्ग सरबजीत से बातचीत के दौरान सीएम केजरीवाल ने उन्हें दिल्ली सरकार की तरफ से पूरा सहयोग का वादा किया। सीएम ने दोषी पुलिसकर्मियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की है।

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने राष्ट्रीय राजधानी में सिख टेम्पो चालक द्वारा एक पुलिसकर्मी पर तलवार से हमला तथा बाद में पुलिसकर्मियों द्वारा उसकी पिटाई के मामले को लेकर उपजे राजनीतिक विवाद के बीच दिल्ली पुलिस से मामले में जवाब तलब किया है ।

यह भी पढ़ें:

केजरीवाल बोले- इंदिरा की तरह हो सकती है मेरी हत्या, नहीं है दिल्ली पुलिस पर भरोसा

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने गृह मंत्री अमित शाह और उपराज्यपाल अनिल बैजल से चालक को पीटने वाले पुलिसकर्मियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की मांग की । पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने इस घटना को शर्मनाक करार दिया है ।

कांग्रेस और भाजपा ने इस मामले में निष्पक्ष जांच की मांग की है जबकि शिरोमणि अकाली दल ने पुलिसकर्मियों को बर्खास्त करने की मांग की । दिल्ली के मुखर्जी नगर क्षेत्र में रविवार शाम टेम्पो चालक सरबजीत सिंह की पुलिसकर्मियों के साथ हुई मारपीट का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है।

घटना के एक कथित वीडियो में टेम्पो चालक तलवार के साथ पुलिसकर्मी का पीछा करते नजर आ रहा है। एक अन्य वीडियो में पुलिसकर्मियों को उसे काबू में कर उसकी पिटाई करते हुए देखा जा सकता है। पुलिस ने बताया कि टेम्पो चालक के वाहन और पुलिस के वाहन के बीच टक्कर होने के बाद मारपीट की यह घटना हुई । पुलिस ने बताया कि इस मारपीट में आठ पुलिसकर्मी घायल हो गए ।

रविवार देर रात के एक वीडियो में, प्रदर्शनकारियों को एक एसीपी-रैंक के अधिकारी का पीछा करते देखा जा सकता है। वह प्रदर्शनकारियों को शांत करने के लिए वहां गए थे। राजौरी गार्डन के भाजपा विधायक मनजिंदर सिंह सिरसा ने दावा किया कि पुलिसकर्मियों ने उस व्यक्ति की पगड़ी पर हमला करके उसका अपमान किया है। इसके बाद इस मामले ने राजनीतिक रूप ले लिया । सिरसा ने मुखर्जी नगर पुलिस थाने के बाहर विरोध प्रदर्शन किया और इस घटना में शामिल पुलिसकर्मियों को बर्खास्त करने की मांग की। शिरोमणि अकाली दल के सदस्य एवं दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के अध्यक्ष सिरसा ने सरबजीत सिंह के साथ दिल्ली पुलिस आयुक्त अमूल्य पटनायक से मुलाकात की और इस मारपीट में शामिल पुलिसकर्मियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की मांग की। इस पर कार्रवाई करते हुए दिल्ली पुलिस ने तीन पुलिसकर्मियों को "गैरपेशेवर रवैया'' अपनाने के लिए निलंबित कर दिया और मामले की जांच शुरू कर दी।

पुलिस ने कहा कि पुलिसकर्मियों और टेम्पो चालक के बयान के आधार पर दोनों पक्ष के खिलाफ प्राथमिकियां दर्ज की गई हैं। नयी दिल्ली के पुलिस उपायुक्त एवं दिल्ली पुलिस के प्रवक्ता मधुर वर्मा ने कहा कि मामले को जांच के लिए अपराध शाखा के पास भेजा गया है । केंद्रीय गृह राज्य मंत्री जी किशन रेड्डी ने कहा कि उन्होंने पटनायक से बात की है और उन्हें त्वरित कार्रवाई करने के लिए कहा गया है । सोमवार को मुखर्जी नगर इलाके में तनाव व्याप्त था जहां यह हिंसा हुई थी।