लखनऊ: समाजवादी पार्टी के रसूखदार नेता गायत्री प्रजापति की मुश्किलें बढ़ गई हैं। वो खुद तो जेल में हैं जबकि उनके घर सीबीआई की दबिश चल रही है। अमेठी में प्रजापति का बड़ा बंग्ला है। जहां सीबीआई की टीम छापेमारी कर रही है। ऐसी अनुमान है कि प्रजापति के कई ठिकानों पर सीबीआई की टीम एक साथ छापेमारी कर रही है।

दरअसल यूपी में पूर्व खनन मंत्री रह चुके प्रजापति के घर माइनिंग घोटाले के सिलसिले में ही सीबीआई दस्तावेज तलाश रही है। गायत्री प्रजापति के परिजनों और कीरीबियों से सीबीआई की टीम पूछताछ भी कर रही है।

यह भी पढ़ें:

गायत्री प्रजापति के परिवार से सीएम योगी ने मिलने से किया इंकार

गायत्री प्रजापति सपा सरकार में खनन मंत्री रह चुके हैं। विवादित छवि के प्रजापति पर महिला से गैंगरेप में शामिल होने का संगीन आरोप है। लखनऊ कोर्ट और फिर हाईकोर्ट ने प्रजापति की जमानत याचिका पहले ही खारिज कर दी है। लिहाजा प्रजापति को जेल में ही दिन काटने पड़ रहे हैं।

बुंदेलखंड की रहने वाली पीड़िता ने प्रजापति पर मौरंग का पट्टा दिलाने के नाम पर देह-शोषण और दुष्कर्म का आरोप लगाया है। हद ये कि महिला को प्रताड़ित करते करते कथित तौर पर प्रजापति ने उसकी नाबालिग बेटी की इज्जत पर भी हाथ डाला।

जानकारों की मानें तो भ्रष्टाचार और अपराध का जिस तरह का आरोप गायत्री प्रजापति के खिलाफ लगा है। उससे लगता है कि उन्हें लंबे वक्त तक जेल में ही गुजारना होगा।