नई दिल्ली : देश में विभिन्न हिस्सों में प्रचंड गर्मी का भीषण कहर जारी है तथा राष्ट्रीय राजधानी में पारा अभी तक सबसे ऊंचे स्तर 48 डिग्री सेल्सियस तक चढ़ गया जबकि उत्तर भारत के कई जगहों पर यह 50 डिग्री के आसपास बना रहा। इस गर्मी से फिलहाल कोई राहत मिलने की संभावना नहीं है।

मौसम विभगा के अनुसार दक्षिणी और पूर्वोत्तर में मानसून की बेहद धीमी गति के कारण उत्तरी और पश्चिमी भारत के राज्यों को अगले कुछ दिन तक कोई राहत मिलने की संभावना नहीं दिख रही है। देश में सोमवार को सबसे गर्म स्थान रहा चुरू।

राजस्थान के इस शहर में अधिकतम तापमान 50.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। उत्तर प्रदेश के बांदा में तापमान 49.2 डिग्री सेल्सियस, इलाहाबाद में 48.9, राजस्थान के श्रीगंगानगर में 48.5 और हरियाणा के नारनौल में 48.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

ये भी पढ़ें: मध्य प्रदेश में पारा 47 डिग्री के पार, धूप की चुभन और लू के थपेड़ों से परेशान लोग

जून की बात करें तो दिल्ली के इतिहास में सोमवार को गर्मी ने सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए। 48 डिग्री सेल्सियस तापमान के साथ 10 जून, 2019 दिल्ली के इतिहास में इस महीने का सबसे गर्म दिन रहा। इससे पहले नौ जून, 2014 को पालम में सबसे ज्यादा 47.8 डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज किया गया था।

भारत मौसम विभाग के क्षेत्रीय मौसम पूर्वानुमान प्रमुख कुलदीप श्रीवास्तव ने बताया कि पालम वेधशाला में सोमवार को दिल्ली के इतिहास में सबसे अधिक तापमान, 48 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। उन्होंने बताया, ‘‘रूखी पछुआ हवाओं, पश्चिम विक्षोभ का मैदानी इलाकों पर कोई प्रभाव नहीं होना और जून के महीने की भीषण गर्मी के कारण तापमान इतना ज्यादा हुआ है।'' उन्होंने कहा, ‘‘दक्षिण-पश्चिमी हवाओं के कारण संभवत: मंगलवार को तापमान में एक-दो डिग्री सेल्सियस की गिरावट आए। लेकिन लू चलना जारी रहेगा।''

हालांकि, सफदरजंग वेधशाला में सोमवार के लिए अधिकतम तापमान 45.6 डिग्री सेल्सियस और न्यूनतम तापमान 27.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है। गौरतलब है कि मौसम विभाग के अनुसार, यदि किसी क्षेत्र में तापमान लगातार दो दिन 45 डिग्री सेल्सियस से ऊपर रहे तो वहां लू की स्थिति घोषित कर दी जाती है। यदि पारा 47 डिग्री सेल्सियस या उससे ऊपर चला जाए तो ‘लू की गंभीर स्थिति' बन जाती है।

ये भी पढ़ें: सुलगती गर्मी से परेशान दिल्ली , मौसम विभाग ने जारी की रेड कोड चेतावनी

विभाग ने बताया कि दिल्ली जैसी छोटी जगहों (भौगोलिक सीमा के आधार पर) पर अगर तापमान एक दिन भी 45 डिग्री सेल्सियस से ऊपर चला जाए तो लू की स्थिति घोषित कर दी जाती है। पंजाब और हरियाणा में भी कई जगहों पर पारा 45 के पार रहा। दोनों राज्यों में सबसे गर्म रहा नारनौल, जहां पारा 48.3 डिग्री सेल्सियस रहा। भिवानी और हिसार में अधिकतम तापमान क्रमश: 46.8 और 46.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

जबकि अंबाला और करनाल में पारा 44.8 और 44.4 डिग्री सेल्सियस पहुंच गया। पंजाब के अमृतसर, लुधियाना और पटियाला में भी तापमान 45 डिग्री सेल्सियस से ऊपर दर्ज किया गया। राजस्थान में सोमवार को चुरू में पारा एक बार फिर 50 डिग्री सेल्सियस को पार कर गया। राज्य के अधिकांश हिस्सों में दिन का तापमान 45 डिग्री सेल्सियस से ऊपर बना रहा।

मौसम विभाग का कहना है कि प्रदेश के लोगों को इस गर्मी से अगले चौबीस घंटे में भी कोई राहत मिलने की उम्मीद नहीं है। सोमवार को चुरू में दिन का अधिकतम तापमान 50.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। वहीं, गंगानगर में अधिकतम तापमान 48.5 डिग्री, बीकानेर में 47.4 डिग्री, कोटा में 47.3 डिग्री और जयपुर में 46.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। बाड़मेर, जैसलमेर और अजमेर में भी तापमान 45 डिग्री से ऊपर रहा।

मध्यप्रदेश के नौगांव में सोमवार को अधिकतम तापमान 49 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो प्रदेश में सर्वाधिक गर्म रहा। मौसम वैज्ञानिक एस के डे ने ‘भाषा' को बताया, ‘‘राजस्थान से मध्यप्रदेश की ओर शुष्क हवा आ रही है, जिसके चलते मध्यप्रदेश के नौगांव एवं ग्वालियर-चंबल इलाके सहित कई भाग तीव्र लू की चपेट में हैं।''

ये भी पढ़ें: केरल में मॉनसून ने दी दस्तक, जानिए आपके शहर में कब होगी बारिश

उन्होंने कहा कि सोमवार को मध्यप्रदेश में अधिकतम तापमान नौगांव में 49 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो कल के मुकाबले एक डिग्री सेल्सियस अधिक था।

डे ने बताया कि इसके बाद, खजुराहो में अधिकतम तापमान 48.4 डिग्री सेल्सियस, ग्वालियर में 47.8 डिग्री, दमोह में 47.2 डिग्री, सतना में 47.1 डिग्री, गुना में 46.8 डिग्री, रीवा में 46.6 डिग्री, राजगढ़ में 46.4 डिग्री, रायसेन में 46.2 डिग्री, शाजापुर एवं सागर में 46 डिग्री, सीधी में 45.8 डिग्री, उमरिया में 45.7 डिग्री एवं टीकमगढ़ में 45.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

वहीं, मध्यप्रदेश की राजधानी में भोपाल में सोमवार को अधिकतम तापमान 45 डिग्री सेल्सियस, जबलपुर में 44.7 डिग्री एवं इंदौर में 42.4 डिग्री सेल्सियस रहा। उन्होंने कहा कि अगले दो दिन मौसम ऐसा ही रहने की उम्मीद है।