नई दिल्‍ली: कर्नाटक के पूर्व मंत्री गली जनार्दन रेड्डी को सुप्रीम कोर्ट से बड़ी राहत मिली है। सुप्रीम कोर्ट ने जनार्दन रेड्डी की याचिका को स्वीकार करते हुए उन्हें दो हफ्तों के लिये गृह जिला बेल्लारी जाने की इजाजत दे दी है। दरअसल पूर्व मंत्री जनार्दन रेड्डी के ससुर गंभीर रूप से बीमार चल रहे हैं। इसी बिना पर पूर्व मंत्री ने बेल्लारी जाने की सुप्रीम कोर्ट से दरख्वास्त की थी। जिसे मंजूर कर लिया गया है।

पिछले साल चुनाव के दौरान भी जनार्दन रेड्डी ने बेल्लारी जाने की इजाजत मांगी थी। जिसे तब खारिज कर दिया गया था। उस वक्त उन्होंने कोर्ट से भाई के चुनाव प्रचार में सहयोग की खातिर बेल्लारी जाने की इजाजत मांगी थी। इससे पहले एक विवाह समारोह में भी शामिल होने की उनकी याचिका खारिज की गई थी।

यह भी पढ़ें:

600 करोड़ रुपए  के स्कैम में कर्नाटक के पूर्व मंत्री जनार्दन रेड्डी को मिली बेल

हालांकि इस बार मानवीय पहलू को ध्यान में रखते हुए सुप्रीम कोर्ट ने पूर्व मंत्री को इजाजत दी है। दरअसल जी जानार्दन रेड्डी के ससुर को दिल का दौरा पड़ा है। बताया जाता है कि जी जनार्दन रेड्डी का अपने ससुर के साथ गहरा लगाव रहा है। इसी को ध्यान में रखते हुए कोर्ट ने उन्हें बड़ी राहत दी है।

दरअसल कर्नाटक में चर्चित रेड्डी बंधुओं पर अवैध खनन के गंभीर आरोप हैं। इन्हीं आरोपों के तहत कुछ मामलों में जनार्दन रेड्डी सजायाफ्ता भी हो चुके हैं। जबकि कुछेक मामले अब भी उनके खिलाफ चल रहे हैं। सुनवाई के दौरान कोर्ट ने तय किया था कि जनार्दन रेड्डी किसी भी सूरत में बेल्लारी नहीं जाएंगे। ताकि वे केस को प्रभावित न कर सकें। हालांकि अब उन्हें राहत मिली है।

बता दें कि 5 मई 2011 को ही जनार्दन रेड्डी व उनके बहनोई बीवी श्रीनिवास रेड्डी को सीबीआइ ने अवैध खनन के मामले में गिरफ्तार किया था। इनपर चिह्नित क्षेत्र के अलावा वन इलाके का अतिक्रमण कर खनन का गंभीर आरोप है। बेल्लारी संरक्षित वन क्षेत्र में खनन का ये मामला खूब उछला था। साथ ही रेड्डी बंधुओं की अकूत संपत्ति को लेकर भी मीडिया में खूब चर्चा हुई थी।

कर्नाटक व आंध्रप्रदेश के अनंतपुर जिले में बेल्लारी में अवैध खनन का गोरखधंधा वर्षों से चल रहा था। मामला जब सीबीआई के हाथों आया तो रेड्डी बंधु बुरी तरह फंस गए। तीन साल जेल में रहने के बाद दोनों को 2015 में जमानत पर रिहाई मिली थी। साथ ही कोर्ट ने ये शर्त लगाया था कि वे बेल्लारी नहीं जाएंगे। साथ ही रेड्डी बंधुओं पर अनंतपुर और कडपा में भी प्रेवश पर रोक लगाई गई थी। फिलहाल जनार्दन रेड्डी सुप्रीम कोर्ट के ताजा आदेश के बाद बेल्लारी जा सकेंगे।