लखनऊ : लोकसभा चुानव के मतगणना के रुझानों में भाजपा अकेले ही 288 सीटों पर आगे चल रही है। वहीं कांग्रेस 51 तथा डीएमके 22 सीटों पर आगे चल रही है। यूपी में समाजवादी पार्टी 8 तथा बसपा 13 सीटों पर आगे चल रही है।

अगर उत्तर प्रदेश की बात करें तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री राजनाथ सिंह यूपी में लोकसभा चुनाव मतगणना के शुरुआती चरणों से ही अपने-अपने प्रतिद्वंद्वियों पर मजबूत बढ़त बनाए हुए हैं। इसके साथ ही भाजपा उत्तर प्रदेश में 55 सीटों पर बढ़त बनाये हुए है। लेकिन सबसे बड़ा सवाल यह है कि भाजपा उत्तर प्रदेश में 74 सीटों पर जीतने का दावा करती थी। लेकिन उतनी सीटें मिलती नहीं दिख रही है। इस हार का ठीकरा किसके सर पर जाएगा।

राजनीतिक जानकारों का मानना है कि सीएम योगी आदित्यनाथ और प्रदेश भाजपा अध्यक्ष महेंद्रनाथ पाण्डेय पर गाज गिर सकती हैं। सीएम योगी आदित्याथ को सीएम पद से भी हटाया जा सकता है।

वहीं, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और केन्द्रीय मंत्री मेनका गांधी अपने-अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वियों से पीछे चल रहे हैं। अमेठी से कांग्रेस प्रत्याशी राहुल तीसरे दौर की मतगणना के दौरान अपनी निकटतम प्रतिद्वंद्वी भाजपा की स्मृति ईरानी से करीब साढ़े छह हजार मतों से पीछे चल रहे हैं।

सुलतानपुर से भाजपा उम्मीदवार मेनका गांधी अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी सपा-बसपा गठबंधन के प्रत्याशी चंद्रभद्र सिंह से करीब तीन हजार मतों से पीछे हैं। हालांकि रायबरेली से कांग्रेस प्रत्याशी सोनिया गांधी अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी भाजपा प्रत्याशी दिनेश सिंह से करीब 27 हजार मतों से आगे हैं।

इसे भी पढ़ें:

Lok Sabha Election Results 2019 Live Updates :  देश में एक बार फिर मोदी सरकार, यूपीए 100 के पार

इसके अलावा पीलीभीत से भाजपा उम्मीदवार वरुण गांधी अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी से करीब 65 हजार मतों से और इलाहाबाद से इसी पार्टी की प्रत्याशी रीता बहुगुणा जोशी भी करीब 32 हजार मतों से बढ़त बनाये हुए हैं।

उधर, मैनपुरी से सपा संस्थापक मुलायम सिंह यादव और आजमगढ़ से पार्टी प्रत्याशी सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव, उनकी पत्नी डिम्पल यादव कन्नौज से आगे चल रही हैं। केन्द्रीय मंत्री अपना दल नेता अनुप्रिया पटेल मिर्जापुर में मजबूत बढ़त बनाये हुए हैं।

मुजफ्फरनगर से शुरुआत में पीछे चल रहे गठबंधन प्रत्याशी रालोद प्रमुख चौधरी अजित सिंह करीब 14 हजार मतों से आगे हो गये हैं। अंतिम समाचार मिलने तक उत्तर प्रदेश की 80 लोकसभा सीटों में से 56 पर भाजपा, 21 पर सपा-बसपा-रालोद गठबंधन तथा कांग्रेस, अपना दल और अपना दल-सोनेलाल एक-एक सीट पर आगे चल रही हैं।