एडीआर की एक रिपोर्ट के अनुसार 2019 के लोकसभा चुनावों में 716 महिला उम्मीदवार अपनी किस्मत आजमा रही हैं। कई सीटों पर पूरे देश की नजर है, जहां पर देश की शीर्ष महिला हस्तियां चुनावी मैदान उतर कर अपनी किस्मत आजमा रही हैं। सोनिया गांधी और केन्द्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री मेनका गांधी यहां की रायबरेली और सुलतानपुर सीट पर चुनाव लड़ रही हैं।

सोनिया गांधी :

सोनिया गांधी पांचवीं बार रायबरेली सीट से लोकसभा के लिए चुनाव लड़ रही हैं। यह सीट एक समय उनकी सास और पूर्व प्रधानमंत्री स्व. इंदिरा गांधी ने प्रतिनिधित्व किया था। सोनिया ने पहली बार लोकसभा का चुनाव अमेठी से जीता था। लेकिन, 2004 लोकसभा चुनाव में उन्होंने अपने बेटे राहुल के लिए यह सीट छोड़कर खुद रायबरेली चली गईं।

हेमा मालिनी :

उत्तर प्रदेश में मथुरा लोकसभा सीट से भाजपा की हेमा मालिनी अपनी किस्मत आजमा रही है। वह सबसे अमीर महिला उम्मीदवार है। उनकी कुल संपत्ति 250 करोड़ रुपये है। हेमा मालिनी ने पिछले चुनाव में मथुरा में जयंत चौधरी को 3 लाख 30 हजार से भी ज्यादा वोटों से हराया था।

हरसिमरत कौर बादल :

पंजाब के भटिंडा से शिरोमणि अकाली दल की हरसिमरत कौर बादल (217 करोड़ रुपये) चुनाव लड़ने वाली तीसरी सबसे अमीर महिला उम्मीदवार हैं। दूसरे स्थान पर आंध्र प्रदेश से टीडीपी की डीए सत्यप्रभा है। उनकी कुल संपत्ति 220 करोड़ रुपये हैं।

मेनका गांधी :

मेनका गांधी भी इंदिरा गांधी की बहु हैं। लेकिन वह भाजपा उम्मीदवार के तौर पर सुल्तानपुर लोकसभा सीट से उतरीं हैं। इस सीट पर फिलहाल लोकसभा का सांसद वरूण गांधी हैं। मेनका ने अपने बेटे से सीट बदलते हुए वरूण गांधी को पीलीभीत भेज दिया।

स्मृति ईरानी :

अमेठी से भाजपा की उम्मीदवार स्मृति ईरानी पर सबकी नजर है। वह कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के खिलाफ चुनाव लड़ रही है। इस बार वह राहुल गांधी को कड़ी टक्कर दे रही है। 2014 के लोकसभा चुनाव में स्मृति ईरानी चुनाव हार गईं थीं।

उर्मिला मातोंडकर :

उर्मिला मातोंडकर ने जब से राजनीति में कदम रखा है तब से बॉलीवुड गलियारों में उनके नाम की खूब चर्चा हो रही हैं। उर्मिला मातोंडकर कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ रही हैं। कांग्रेस ने उर्मिला मातोंडकर को उत्तरी मुंबई सीट से उम्मीदवार बनाया है। उर्मिला का मुकाबला भाजपा के मौजूदा सांसद गोपाल शेट्टी से है।

प्रिया दत्त :

प्रिया दत्त कांग्रेस पार्टी की नेता है और पहली बार 14वीं लोकसभा चुनाव के दौरान वह मुंबई में नॉर्थ वेस्ट से सांसद चुनी गई थीं। प्रिया दत्त इस बार भी चुनावी मैदान में हैं। प्रिया इस बार उत्तर पश्चिमी मुंबई से चुनाव लड़ रही हैं।

कृष्णा पूनिया :

लोकसभा चुनाव 2019 में जयपुर ग्रामीण सीट से कांग्रेस के टिकट पर कृष्णा पूनिया हैं। कृष्णा की सीधी टक्कर भाजपा के टिकट पर चुनाव लड़ रहे केंद्रीय मंत्री और ओलंपिक सिल्वर विजेता राज्यवर्धन राठौड़ से है।

इसे भी पढ़ें :

राजस्थान में राजघरानों की जंग: क्या यहां से जीतकर संसद पहुंचेंगी दीया कुमारी?

डिंपल यादव ने मंच पर छुए मायावती के पैर, बसपा सुप्रीमो ने ‘बहू’ के लिए मांगे वोट

जया प्रदा :

टॉप एक्ट्रेस में शुमार जया प्रदा अपनी दूसरी पारी राजनीति के मैदान पर खेल रही हैं। वह भाजपा के टिकट पर उत्तर प्रदेश के रामपुर से सपा के फायरब्रांड नेता और महागठबंधन के प्रत्याशी आजम खान के खिलाफ चुनाव लड़ रही हैं।

दीया कुमारी :

जयपुर राजपरिवार की दीया कुमारी भी इस बार चुनाव मैदान में है। वह भाजपा के टिकट पर चुनाव लड़ रही है। दीया कुमारी को कांग्रेस के देवकीनंदन गुर्जर के खिलाफ चुनाव मैदान में उतारा गया है। दीया कुमारी पूर्व में सवाई माधोपुर विधानसभा सीट से भाजपा विधायक रही हैं और राजसमंद लोकसभा सीट से पहली बार लोकसभा चुनाव लड़ रही हैं। मतदाताओं के बीच जाते वक्त वह अपनी पृष्ठभूमि हमेशा से गैर शाही बताती हैं।

मीसा भारती :

राजद सुप्रीमो लालू यादव की बड़ी बेटी मीसा भारती पाटलीपुत्र से चुनाव मैदान में हैं। वह भाजपा नेता रामकृपाल यादव के खिलाफ चुनाव लड़ रही है। 2014 के लोकसभा चुनाव में भी वह पाटलीपुत्र से चुनाव लड़ चुकीं।

पूनम महाजन :

दिवंगत भाजपा नेता प्रमोद महाजन की बेटी पूनम महाजन को मुंबई नॉर्थ सेंट्रल सीट से टिकट दिया गया है। यहां से कांग्रेस के टिकट पर प्रिया दत्त चुनाव लड़ रही है। 2014 में पूनम महाजन ने पहली बार लोकसभा का चुनाव लड़ा और अपनी प्रतिद्वंद्वी कांग्रेस की प्रिया दत्त को करीब दो लाख वोटों से हराया। इसके बाद 2016 में भाजपा ने उन्हें बीजेवाईएम का राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाया।

डिंपल यादव :

डिंपल यादव यूपी के सबसे बड़े सियासी कुनबे से ताल्लुक रखती हैं। वह यूपी के पूर्व सीएम मुलायम सिंह यादव की बहू हैं और पूर्व सीएम अखिलेश यादव की पत्नी हैं। वह यूपी के कन्नौज से समाजवादी पार्टी के टिकट पर चुनाव लड़ रही हैं। 2009 के अपने पहले लोकसभा चुनाव में डिंपल को राजबब्बर के हाथों हार का सामना करना पड़ा था। 2014 में मोदी लहर में भी डिंपल ने अपनी सीट बचा ली। 2019 के लोकसभा चुनावों में डिंपल सपा-बसपा-रालोद गठबंधन की तरफ से मजबूत दावेदारी पेश कर रही हैं।

साध्‍वी निरंजन ज्‍योति :

केंद्रीय मंत्री साध्‍वी निरंजन ज्‍योति ने फतेहपुर लोकसभा सीट से 2014 के चुनावों में 1.8 लाख वोटों से जीत हासिल की थी। वह भाजपा की फायर ब्रैंड नेत्री है।

साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर :

मध्य प्रदेश की भोपाल लोकसभा सीट से भाजपा ने साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर को अपना उम्मीदवार बनाया है। वह पहली बार लोकसभा चुनाव लड़ रही है। साध्वी के सामने कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह है। यह सीट हॉट मानी जाती है। इस सीट पर सबकी नजर हैं।

अनुप्रिया पटेल :

केंद्रीय मंत्री अनुप्रिया पटेल मीरजापुर लोकसभा सीट से एनडीए की प्रत्याशी हैं। 2014 के लोकसभा चुनाव में वह 'अपना दल' की ओर से उम्मीदवार थी। अपना दल को भाजपा का समर्थन प्राप्त है। अनुप्रिया पटेल मोदी सरकार की सबसे युवा मंत्री हैं तथा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्यमंत्री के रूप में कार्यरत है। अनुप्रिया पटेल ‘अपना दल’ की राष्ट्रीय अध्यक्ष हैं इनके पिता अपना दल के संस्थापक यशकाय डा० सोनेलाल पटेल थे ।