गुवाहाटी : अरुणाचल प्रदेश के विधायक तिरोंग अबोह समेत कम से कम 11 लोग मंगलवार को अरुणाचल प्रदेश के तिरप जिले में संदिग्ध नागा उग्रवादियों के हमले में मारे गए।

पुलिस ने कहा कि अबोह और उनके परिवार के सदस्य असम के डिब्रूगढ़ से खोनसा जा रहे थे। इसी दौरान असम-अरुणाचल की सीमा पर स्थित तिरप जिले के बोगापानी इलाके में उनके वाहन पर संदिग्ध एनएससीएन (आईएम) के उग्रवादियों ने हमला किया।

पर्वतीय राज्य के खोनसा पश्चिम निर्वाचन क्षेत्र से नेशनल पीपुल्स पार्टी (एनपीपी) के विधायक अबोह ने हाल ही में हुए विधानसभा चुनावों में दूसरे कार्यकाल के लिए चुनाव लड़ा था जिसके कारण उन्हें नेशनल सोशलिस्ट काउंसिल ऑफ नागालैंड-इसाक-मुइवा गुट (एनएससीएन-आईएम) के उग्रवादियों से धमकियां मिलीं थीं।

पुलिस ने पुष्टि की है कि अबोह की मृत्यु हो गई है, लेकिन अन्य पीड़ितों का विवरण बताने से इनकार कर दिया।

केंद्रीय गृह राज्य मंत्री किरण रिजिजू ने घटना की निंदा की। उन्होंने हमले में मारे गए लोगों की संख्या 11 होने की पुष्टि की है।

रिजिजू ने ट्वीट कर कहा, "हमले में अरुणाचल प्रदेश के विधायक तिरोंग अबोह समेत उनके 11 परिजनों की हत्या से मैं स्तब्ध और दुखी हूं। इस तरह के कायराना हमले के लिए जिम्मेदार लोगों के खिलाफ सबसे मजबूत हर संभव कार्रवाई की जाएगी।"एनपीपी प्रमुख और मेघालय के मुख्यमंत्री कोनराड संगमा ने इस घटना पर शोक व्यक्त किया।

इसे भी पढ़ें :

\लोकसभा चुनाव में मनी पावर का खूब हुआ इस्तेमाल! कैश बरामदगी में तमिलनाडु अव्वल

संगमा ने ट्वीट किया, "एनपीपी अपने विधायक (अरुणाचल प्रदेश) श्री तिरोंग अबोह और उनके परिवार के सदस्यों की मौत की खबर से स्तब्ध और दुखी है। हम इस क्रूर हमले की निंदा करते हैं और गृहमंत्री राजनाथ सिंह और प्रधानमंत्री कार्यालय से आग्रह करते हैं कि ऐसे हमले के लिए जिम्मेदार लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए।"

अरुणाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री पेमा खांडू ने ट्वीट किया, "उग्रवादियों द्वारा खोनसा के विधायक तिरोंग अबोह और कई अन्य लोगों की दुर्भाग्यपूर्ण हत्या से बेहद सदमे में हूं। हम इस बर्बर कृत्य की कड़ी निंदा करते हैं। अपराधियों पर कार्रवाई की जाएगी। मेरी संवेदनाएं मारे गए लोगों के साथ है। उनकी आत्मा को शांति मिले।"