आगरा : उत्तर प्रदेश के आगरा से एक बेहद ही दिलचस्प मामला सामने आया है। यहां जयमाल के बाद दूल्हे का दुल्हन को गोद में उठाना इतना महंगा पड़ेगा यह उसने सपने में भी नहीं सोचा होगा। दूल्हे की यह हरकत दुल्हन को काफी नागवार लगी। उसने तुरंत ही शादी न करने का फैसला सुना दिया। इसके बाद दुल्हन को बहुत मनाने की कोशिश की गई, लेकिन दुल्हन अपने फैसले पर अडिग रही। फिर बरात बैरंग वापस लौट गई।

मिली जानकारी के मुताबिक, आगरा में शुक्रवार रात जयमाल के बाद दूल्हे का दुल्हन को गोद में उठाना इतना भारी पड़ेगा यह उसने नहीं सोचा होगा। दूल्हे की इस हरकत से नाराज़ दुल्हन ने उसके साथ शादी करने से मना कर दिया। उसने बरात को वापस लौटा दिया। दुल्हन को बहुत मनाने की कोशिश की गई लेकिन दुल्हन ने अपना फैसला नही बदला।

आगरा में यह मामला एत्मादुद्दौला थाना क्षेत्र का है। यहां शुक्रवार रात कमला नगर से बरात आई थी। बरातियों का जोरदार स्वागत किया गया। उसके बाद द्वारचार भी हो गया। जयमाल कार्यक्रम भी चरम पर था। दूल्हे ने दुल्हन को माला भी पहना दी।

इसे भी पढ़ें :

मतदान से पहले चंदौली में भाजपा नेताओं ने बांटे रुपये, धरने पर बैठे सपा नेता

उत्तर प्रदेश में होते हैं ऐसे उत्पाद जो देश में कहीं नहीं हैं उपलब्ध 

वरमाला डालने के बाद दुल्हन के अचानक बेसुध हो गई। उसी दौरान दुल्हन को गोदी में लेकर जाते समय दूल्हे ने कुछ हरकत कर दी। इससे नाराज दुल्हन ने लोक लाज की परवाह ना करते हुए शादी करने से इनकार कर दिया। काफी देर तक दोनों पक्षों में समझौता का प्रयास किया गया लेकिन बात ना बन सकी।

दूल्हे के भाई ने बताया कि वह दो वरमाला लेकर आए थे। एक माला दूल्हे को पंडित ने बारोटी के समय गले में पहना दी थी। जिसके चलते एक ही माला रह गई थी। एक ही वरमाला दोनों की गली में डालनी पड़ी। काफी देर प्रयास के बाद बात नहीं बनी। पंचों की बीच बैठकर बारात वापस ले जाने की बात कही गई। साथ ही दिया गया सारा सामान वापस दुल्हन के पक्ष के लोगों ने ले लिया। समान लेने के बाद वापस बारात को लौटा दिया गया।