नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव 2019 के छठवें चरण के लिए प्रचार शुक्रवार शाम को खत्म हो गया। इस चरण में कुल 6 राज्यों की 59 सीटों पर शनिवार 12 मई को वोटिंग होनी है। इस चरण में यूपी सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव भाजपा के टिकट पर सहारनपुर से से चुनाव लड़ रही मेनका गांधी की किस्मत कल ईवीएम में कैद हो जाएगी। इसके अलावा एमपी की सबसे चर्चित सीट भोपाल पर भी साध्वी प्रज्ञा और कांग्रेस के दिग्विजय सिंह किस्मत की किस्मत का फैसला होगा।

59 सीटों पर होना है मतदान

छठवें चरण में यूपी 14, हरियाणा की 10, एमपी, बिहार और पश्चिम बंगाल की चार-चार, दिल्ली की सभी सात और झारखंड की चार सीटों पर मतदान होगा। बता दें कि इन सभी 59 सीटों में से 44 सीटों पर पिछली बार बीजेपी ने अपना कब्जा जमाया था।

311 करोड़पति कैंडिडेट मैदान में

छठे चरण में कुल 979 उम्मीदवारों की किस्मत का फैसला होना है। एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स (एडीआर) द्वारा जारी एक सर्वेक्षण रिपोर्ट में कहा गया है कि 967 उम्मीदवारों में से 311 करोड़पति हैं

चुनाव को लेकर तैयारियां पूरी

छठे चरण के लिए सभी 6 राज्यों ने भी चुनाव को लेकर तैयारियां पूरी कर ली गई है। पश्चिम बंगाल में हिंसा मुक्त चुनाव सुनिश्चित करने के लिए केंद्र द्वारा 71,000 से अधिक सुरक्षाकर्मियों को तैनात किया जाएगा। वहीं दिल्ली में होमगार्ड्स और अर्धसैनिक बलों सहित 60,000 कर्मियों को नई दिल्ली में ड्यूटी पर रखा जाएगा

इसे भी पढ़ें

लोकसभा चुनाव के चौथे चरण का प्रचार खत्म, 29 अप्रैल को 71 सीटों पर मतदान

झारखंड में चुनावी तैयारियों को लेकर अधिकारियों ने बताया कि माओवाद प्रभावित जंगलमहल क्षेत्र में IED से बचने के लिए सुरक्षाकर्मियों को निर्देश दिया गया है कि वे वाहनों का प्रयोग न करें।

सुबह चार बजे से ही दिल्ली में दौड़ेगी मेट्रो

दिल्ली में 12 मई को मेट्रो सेवा दो घंटे पहले 4 बजे से शुरू होगी, ताकि चुनाव ड्यूटी के लिए तैनात कर्मचारी यात्रा के लिए सुविधा का लाभ उठा सकें।