रायबरेली : कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा उत्तर प्रदेश के रायबरेली में चुनाव प्रचार के दौरान सपेरों की बस्ती में पहुंची और एक सांप को अपने हाथों से पकड़ लिया। दरअसल, प्रियंका चुनाव प्रचार के लिये बेलावेला गांव जा रही थीं तभी रास्ते में कुचरिया गांव में सपेरों की बस्ती में पहुंच गई और उनसे काफी देर तक बातचीत की। इस दौरान सांप को अपने हाथ में भी लिया। प्रियंका का ये वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है, लेकिन ये उनकी चिंता भी बढ़ा सकता है।

जानवरों की रक्षा के लिए काम करने वाली संस्था PETA को प्रियंका के इस वीडियो से आपत्ति है और वह इसके खिलाफ चुनाव आयोग भी जा सकता है। PETA के प्रतिनिधियों का कहना है कि वह इस मसले पर चुनाव आयोग जाएंगे। उनकी दलील है कि आचार संहिता के मुताबिक जानवरों का चुनाव प्रचार में इस्तेमाल नहीं किया जा सकता है। जबकि प्रियंका ने सांपों के साथ प्रचार के दौरान फोटो भी खिंचवाई है। हालांकि, उनका ये भी कहना है कि प्रियंका के द्वारा किसी वाइल्डलाइफ एक्ट का उल्लंघन नहीं किया गया है।

इसे भी पढ़ें :

प्रियंका गांधी के खिलाफ बाल आयोग ने खोला मोर्चा, चुनाव आयोग से शिकायत

बाद में प्रियंका ने गांव वालों से कहा कि मेरी मां आपकी उम्मीदवार हैं, आपने पहले भी उनको जिताया, उन्होंने विकास के कार्य करके दिखाए। आपके क्षेत्र में ऐसा उम्मीदवार हो जो आपकी समस्याओं को समझे, उनको सुलझाने की कोशिश करे। जहां तक भाजपा के उम्मीदवार हैं, उनको भी आप अच्छी तरह से जानते हो, मैं भी अच्छी तरह से जानती हूं. उनके लिए जनता की कोई अहमियत नहीं है. उनके लिए राजनीति सौदेबाजी है।