गढ़चिरौली : महाराष्ट्र के गढ़चिरौली में बुधवार को नक्सलियों ने आईईडी ब्लास्ट किया है। इस घटना में 15 सुरक्षाकर्मियों के शहीद होने की खबर है। सभी सी-60 फोर्स के जवान थे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने घटना पर दुख जताया है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नक्सली वारदात पर दुख जताते हुए शहीद जवानों की बहादुरी को सलाम किया है। उन्होंने कहा कि जवानों के बलिदान को भूला नहीं जा सकता है।

मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने हमले को नक्सलियों की कायराना करतूत बताते हुए खेद जताया है। उन्होंने कहा कि वह गढ़चिरौली के डीजीपी और एसपी से लगातार संपर्क में हैं।

इस घटना से पहले गढ़चिरौली में ही नक्सलियों ने निजी ठेकेदारों के कम से कम तीन दर्जन वाहनों में आग लगा दी थी ।

नक्सलियों ने जाने से पहले दो जेसीबी, 11 टिप्पर, डीजल और पेट्रोल टैंकर्स, रोलर्स, जेनरेटर वैन और दो स्थानीय कार्यालयों को भी आग के हवाले कर दिया।

यह घटना सुबह उस वक्त घटी जब राज्य का स्थापना दिवस 'महाराष्ट्र दिवस' मनाने की तैयारी की जा रही थी। इधर नक्सली पिछले साल 22 अप्रैल के दिन सुरक्षा बलों द्वारा मारे गए अपने 40 साथियों की मौत की पहली बरसी मनाने के लिए एक सप्ताह से चल रहे विरोध प्रदर्शन के अंतिम चरण में थे।

जिन वाहनों को नक्सलियों ने अपना निशाना बनाया, उनमें से ज्यादातर अमर इंफास्ट्रक्चर लिमिटेड के थे, जो दादापुर गांव के पास एनएच 136 के पुरादा-येरकाड सेक्टर के लिए निर्माण कार्यो में लगे थे।

यह भी पढ़ें :

CRPF कान्सटेबल ने घायल नक्सली की ऐसे बचाई जान, लोगों ने किया सैल्यूट

आत्मसमर्पण करके बोला इनामी नक्सली : ऐसे आंध्र व तेलंगाना से चलता है नेटवर्क

घटनास्थल से भागने से पहले नक्सलियों ने पिछले साल अपने साथियों की हत्या की निंदा करते हुए पोस्टर और बैनर भी लगाए। नक्सलियों ने जाने से पहले दो जेसीबी, 11 टिप्पर, डीजल और पेट्रोल टैंकर्स, रोलर्स, जेनरेटर वैन और दो स्थानीय कार्यालयों को भी आग के हवाले कर दिया।

-आईएएनएस