नई दिल्ली : मद्रास हाई कोर्ट की मदुरै बेंच ने पॉपुलर चीनी ऐप TikTok से बैन हटा लिया गया है। Tik Tok की तरफ से कोर्ट में अरविंद दातर ने कोर्ट में यह तर्क दिया है कि ऐसी कोई भी व्यवस्था नहीं हो सकती है जो वैधानिक रूप से मान्य हो, लकिन न्यायिक रूप से पूर्ण न हो। इस ऐप को बैन करना समाधान नहीं है। यूजर्स की राइट सुरक्षा करना जरूरी है।

इससे पहले टिकटॉक पर गलत कंटेंट के कारण बैन लगा दिया गया था। जिसके चलते नए यूजर्स इस एप को डाउनलोड नहीं कर सकते थे। हालांकि जिन लोगों ने इस एप को पहले से ही डाउनलोड कर रखा है वह इसका इस्तेमाल कर सकते हैं।

आपको बता दें कि एनैलिटिक फर्म सेंसर टॉवर की एक रिपोर्ट के मुताबिक भारत में इस एप का इस्तेमाल 30 करोड़ यूजर्स करते हैं। जबकि दुनियाभर में इसके यूजर्स की संख्या 100 करोड़ है। टिकटॉक मामले पर हुई पिछली सुनवाई में सुप्रीम कोर्ट ने साफ कर दिया था कि 24 अप्रैल को मद्रास हाई कोर्ट ने इस पर पुनर्विचार नहीं किया तो इस पर लगी बैन हटा दी जाएगी।

इसे भी पढ़ें :

भारत में TikTok डाउनलोड पर लगी रोक, गूगल ने प्ले स्टोर से हटाया

आपको बता दें कि मद्रास हाई कोर्ट के Tik Tok बैन के फैसले के बाद गूगल और ऐपल ने भारत में इस ऐप को प्ले स्टोर और ऐप स्टोर से हटा लिया था। हालांकि खबर लिखे जाने तक ये ऐप प्ले स्टोर और ऐप स्टोर पर नहीं आया है, लेकिन जल्दी ही यह ऐप डाउनलोड के लिए उपलब्ध होगा।