नई दिल्ली : लोकसभा चुनाव के चौथे चरण में नौ राज्यों के 71 संसदीय क्षेत्रों से किस्मत आजमा रहे 943 उम्मीदवारों में सबसे धनी उम्मीदवार मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमल नाथ के पुत्र नकुल नाथ हैं।

चुनाव विश्लेषण से जुड़ी शोध संस्था एडीआर की चौथे चरण के चुनाव में किस्मत आजमा रहे 928 उम्मीदवारों के हलफनामों के विश्लेषण पर आधारित रिपोर्ट के अनुसार छिंदवाड़ा संसदीय क्षेत्र से कांग्रेस उम्मीदवार नकुल नाथ ने अपने हलफनामे में 660 करोड़ रुपये से अधिक की चल अचल संपत्ति का खुलासा किया है।

बुधवार को जारी रिपोर्ट के अनुसार नाथ के पास 618 करोड़ रुपये की चल और 41 करोड़ रुपये अचल संपत्ति है। उल्लेखनीय है कि चौथे चरण के लिये 29 अप्रैल को मतदान होगा। रिपोर्ट के अनुसार इस चरण में दूसरे सबसे धनी उम्मीदवार दक्षिण मध्य मुंबई सीट से वंचित बहुजन अगाडी़ के टिकट पर चुनाव लड़ रहे संजय सुशील भोंसले हैं। उनके पास 125 करोड़ रुपये की चल-अचल संपत्ति है।

वहीं उत्तर प्रदेश की झांसी सीट से भाजपा उम्मीदवार अनुराग शर्मा 124 करोड़ रुपये की चल-अचल संपत्ति के साथ तीसरे स्थान पर हैं। इस चरण में तीन निर्दलीय उम्मीदवारों ने हलफनामे में बताया है कि उनके पास चल-अचल संपति के रूप में कुछ भी नहीं है।

संपत्ति की कीमत शून्य बताने वाले उम्मीदवारों में महाराष्ट्र की नासिक से प्रियंका रामराव शिरोले, थाणे सीट से विट्ठल नाथ चव्हाण और राजस्थान की टोंक सवाई माधौपुर सीट से उम्मीदवार प्रेमलता बंशीलाल हैं।

इसे भी पढ़ें :

मध्य प्रदेश की इन सीटों पर होगी अग्नि परीक्षा, कांग्रेस-भाजपा की अलग अलग मुश्किलें

रिपोर्ट के अनुसार चौथे चरण में पिछले तीन चरण की तुलना में महिला उम्मीदवारों की मौजूदगी ज्यादा है। चौथे चरण में दस प्रतिशत महिला उम्मीदवार चुनाव मैदान में है। जबकि पहले तीन चरणों में महिला उम्मीदवारों की संख्या सात, आठ और नौ प्रतिशत थी। शैक्षिक योग्यता के मामले में चौथे चरण के लगभग आधे उम्मीदवार (49 प्रतिशत) स्नातक हैं और 44 प्रतिशत उम्मीदवार पांचवी से 12 कक्षा तक पढ़े हैं।

चौथे चरण में आपराधिक पृष्ठभूमि के सर्वाधिक उम्मीदवार हैं। रिपोर्ट के अनुसार इस चरण में 23 प्रतिशत उम्मीदवारों ने अपने खिलाफ आपराधिक मामलों का खुलासा किया है। जबकि 17 प्रतिशत उम्मीदवारों के खिलाफ गंभीर आपराधिक मामले लंबित हैं। इनमें सर्वाधिक भाजपा और कांग्रेस के उम्मीदवार शामिल हैं। चौथे चरण में भाजपा के 57 में से 45 और कांग्रेस के 57 में से 27 उम्मीदवारों ने अपने हलफनामे में आपराधिक और गंभीर आपराधिक मामलों का खुलासा किया है।