पटना : बिहार में लोकसभा चुनाव के तीसरे चरण का मतदान खत्‍म हो गई है। तीसरे चरण में बिहार के पांच लोकसभा क्षेत्रों झंझारपुर, सुपौल, अररिया, मधेपुरा व खगड़िया में मंगलवार को वोटिंग हुई। इसमें लगभग 60 परसेंट मतदान हुआ। इसके साथ ही तीसरे चरण में कुल 82 उम्‍मीदवारों की किस्‍मत इवीएम में कैद हो गई। इनमें पप्‍पू यादव, शरद यादव, रंजीत रंजन, दिनेशचंद्र यादव, मुकेश सहनी आदि प्रमुख रूप से शामिल हैं।

हालांकि कई जगहों EVM के खराब होने की शिकायत सामने आ रही है। सुबह से लोग भारी तादाद में मतदान के लिए पहुंच रहे है लेकिन ईवीएम खराब होने लोगों को लाइनो में इंतजार करना पड़ रहा है। जिन जगहो में ईवीएम खराब होने की कंप्लेन सामने आई है।

मधुबनी के बूथ संख्या 245, 246, झंझारपुर- लौकहा में बूथ संख्या 153, 180, जयनगर में बूथ संख्या 216 के अलावा सुपौल में भी बूथ संख्या 117 पर वोटिंग शुरू नहीं हो सकी है। अररिया- फारबिसगंज के बूथ संख्या 118 पर भी ईवीएम खराबपर ईवीएम में मतदान के बाधित होने की खबर सामने आ रही है। सभी बूथों पर ईवीएम बदलने का निर्देश दे दिया गया है।

बता दें कि इस चरण में बिहार की 40 लोकसभा सीटों में से पांच- झंझारपुर, मधेपुरा, सुपौल, अररिया और खगड़िया क्षेत्रों में मतदाता अपने मताधिकार का उपयोग करेंगे।

इस चरण में दिग्गज समाजवादी नेता शरद यादव, रंजीत रंजन, पप्पू यादव, मुकेश सहनी, सरफराज आलम सहित 82 उम्मीदवारों के राजनीतिक किस्मत का फैसला होना है।

मधुबनी जिले के झंझारपुर में जहां 17 प्रत्याशी हैं, वहीं सुपौल में 20, मधेपुरा में 13, अररिया में 12 और खगड़िया में 20 प्रत्याशी सहित कुल 82 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं।

राज्य के अपर मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी संजय कुमार सिंह ने सोमवार को बताया कि तीसरे चरण में कुल 89़ 09 लाख मतदाता अपने मताधिकार का उपयोग करेंगे। इनके लिए 9,076 मतदान केंद्र बनाए गए हैं। सबसे अधिक 1,940 मतदान केंद्र मधेपुरा लोकसभा क्षेत्र में बने हैं, जबकि सबसे कम खगड़िया में 1,714 मतदान केंद्र बनाए गए हैं।

उन्होंने बताया कि सभी मतदान केंद्रों पर सुरक्षा के पुख्ता प्रबंध किए जा रहे हैं। सुरक्षा कारणों से खगड़िया लोकसभा क्षेत्र के तीन विधानसभा क्षेत्रों- सिमरी बख्तियारपुर, बेलदौर एवं अलौली में सुबह सात बजे से चार बजे तक, जबकि शेष सभी क्षेत्रों में शाम छह बजे तक मतदान होगा।

पांचों निर्वाचन क्षेत्रों में मुख्य मुकाबला राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) और विपक्षी दलों के महागठबंधन के बीच माना जा रहा है, हालांकि मधेपुरा में मुकाबला त्रिकोणीय बना हुआ है।

मधेपुरा में चार बार से सांसद चुने गए शरद यादव इस बार राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के उम्मीदवार हैं। जद (यू) के दिनेश चंद्र यादव पार्टी के पूर्व अध्यक्ष शरद का मुकाबला करेंगे और इसी सीट से जन अधिकार पार्टी के राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव बतौर निर्दलीय चुनाव को त्रिकोणीय बनाने मैदान में उतरे हैं। दिनेश चंद्र यादव राज्य के मंत्री और राजग के उम्मीदवार हैं।

अररिया में भाजपा के प्रदीप सिंह का मुकाबला महागठबंधन के प्रत्याशी राजद नेता सरफराज आलम से है तो सुपौल में कांग्रेस की सांसद रंजीत रंजन और जद (यू) के दिलेश्वर कामत के बीच सीधी टक्कर है।

खगड़िया लोकसभा क्षेत्र में विकासशील इंसान पार्टी के मुकेश सहनी को लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) के नेता महबूब अली कैसर से टक्कर मिल रही है तो झंझारपुर में जद (यू) के रामप्रीत मंडल और राजद के गुलाब यादव के बीच सीधा मुकाबला है। पूर्व सांसद देवेंद्र प्रसाद यादव के बतौर निर्दलीय प्रत्याशी मैदान में उतर जाने से यहां भी मुकाबला त्रिकोणीय हो चला है।

इसे भी पढ़ें :

Lok Sabha Elections 2019 : इस खबर से समझिए बिहार की किशनगंज लोकसभा सीट का मिजाज

पिछले लोकसभा चुनाव में मधेपुरा और अररिया सीट पर राजद प्रत्याशी ने जीत दर्ज की थी, जबकि सुपौल में कांग्रेस और खगड़िया से लोजपा प्रत्याशी ने जीत दर्ज की थी। झंझारपुर पर भाजपा के वीरेंद्र चौधरी ने कब्जा जमाया था।

तीसरे चरण को लेकर सभी राजनीतिक दलों ने चुनाव प्रचार में अपनी पूरी ताकत झोंक दी है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अररिया में चुनावी सभा को संबोधित कर चुके हैं। इन क्षेत्रों में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी व लोजपा अध्यक्ष रामविलास पासवान भी राजग के लिए प्रचार करने पहुंचे थे।

महागठबंधन की ओर से कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी सुपौल में कांग्रेस प्रत्याशी रंजीत रंजन के लिए वोट मांगने पहुंचे थे। इसके अलावा राजद के तेजस्वी यादव, पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी, पूर्व केंद्रीय मंत्री उपेंद्र कुशवाहा सहित कई नेता इन क्षेत्रों में चुनावी जनसभा को संबोधित कर चुके हैं।

बिहार में लोकसभा चुनाव के सभी सात चरणों में मतदान होना है। पहले और दूसरे चरण में कुल नौ लोकसभा क्षेत्रों में मतदान हो चुका है। मतों की गिनती 23 मई को होगी।