नई दिल्ली : सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को मद्रास हाईकोर्ट को अल्टीमेटम देते हुए कहा कि अगर 24 अप्रैल तक वीडियो स्ट्रीमिंग ऐप टिकटॉक पर विचार कर फैसला नहीं किया जाता तो उस पर लगा अंतरिम बैन हट जाएगा।

अधिवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने अदालत से कहा कि उनकी और विशेषज्ञों की दलील सुने बिना फैसला नहीं दिया जा सकता था, जिसके बाद शीर्ष न्यायालय ने यह आदेश दिया है। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि अगर मद्रास हाईकोर्ट अगले दो दिनों में मामले पर विचार कर आदेश पारित नहीं करता है तो ऐप पर लगी अंतरिम रोक हट जाएगी।

बता दें तीन अप्रैल को मद्रास हाईकोर्ट ने टिकटॉक द्वारा पोर्नोग्राफिक और अनुचित सामग्री उपलब्ध कराने की वजह से केंद्र को एप पर प्रतिबंध लगाने का आदेश दिया था।

यह भी पढ़ें :

भारत में TikTok डाउनलोड पर लगी रोक, गूगल ने प्ले स्टोर से हटाया

Google Pay की मदद से अब खरीद और बेच सकते हैं सोना, मिलेगी ये सुविधा

टिकटॉक प्रतिमाह अपने 5.4 करोड़ उपयोगकर्ताओं को वीडियो बनाने और साझा करने की सुविधा देता है और इनमें अनुचित सामग्री हो सकती है। इस एप के उपयोगकर्ता मीम, गाने के बोल पर वीडियो बना कर फेसबुक, वाट्सएप और शेयर चैट पर साझा करते थे। इन सोशल मीडिया के जरिए ज्यादातर वयस्क इस एप के बारे में जान गए थे।