पटना: बिहार विद्यालय परीक्षा समिति (बीएसईबी) की 10 वीं (मैट्रिक) के परीक्षा परिणाम शनिवार को घोषित कर दिए गए। इस वर्ष करीब 81 प्रतिशत परीक्षार्थी सफल हुए हैं।

बिहार के शिक्षा विभाग के अपर सचिव आर.के. महाजन और बीएसईबी के अध्यक्ष आनंद किशोर ने परीक्षा परिणाम जारी किया। इसके बाद आनंद किशोर ने संवाददाताओं को बताया कि इस वर्ष 80.73 प्रतिशत परीक्षार्थी सफल हुए हैं।

आनंद ने बताया, "परीक्षा और मूल्यांकन प्रणाली में परिवर्तन करने से परीक्षा परिणाम बेहतर हुए हैं। यहां के छात्रों को अब अन्य राज्यों के कॉलेजों में नामांकन लेने में कठिनाइयों का सामना नहीं करना पडेगा।" पिछले वर्ष करीब 69 प्रतिशत ही परीक्षार्थी सफल हुए थे।

उन्होंने बताया कि बिहार विद्यालय परीक्षा समिति द्वारा इस वर्ष 21-28 फरवरी के बीच आयोजित की गई थी। इस परीक्षा में करीब 16.60 लाख परीक्षार्थी शामिल हुए थे।

किशोर ने इस बार पिछले वर्ष की तुलना में अच्छे परिणाम के लिए प्रश्नपत्रों के पैटर्न में बदलाव और शिक्षा के क्षेत्र में चलाई जा रही योजनाओं को श्रेय दिया है। उन्होंने कहा कि '29 दिनों में परीक्षा परिणाम जारी कर दिया गया है, जो बड़ी बात है।'

उन्होंने सभी सफल छात्रों को बधाई देते हुए उन्हें अच्छे भविष्य की शुभकामनाएं दी जबकि असफल छात्रों को और कड़ी मेहनत करने की सलाह दी।

ऐसे देख सकेंगे रिज़ल्ट

रिज़ल्ट जारी होने के तत्काल बाद बिहार बोर्ड अधिकारिक वेबसाइट biharboard.ac.in या biharboardonline.bihar.gov.in पर रिजल्ट अपलोड कर दिया जाएगा। वेबसाइट पर जाकर आप बिहार बोर्ड 10वीं रिज़ल्ट के लिंक को क्लिक करें। इसके बाद निर्धारित कॉलम में अपना रोल नंबर और मांगी गई दूसरी जानकारियां भरें। फिर रिजल्ट आपके सामने होगा।

इसे भी पढ़ेंः

Bihar Board 10th Result 2019: आज जारी होंगे रिजल्ट, ऐसे देखें परीक्षा परिणाम

बता दें कि करीब सोलह लाख साठ हजार बच्चे आज बेसब्री से अपने रिजल्ट का इंतजार कर रहे हैं। इसके लिए दसवीं बोर्ड की परीक्षाएं 21 फरवरी से 28 फरवरी के तक चली थी। महज एक हफ्ते में ही परीक्षा संपन्न करा ली गई थी। उम्मीद के मुताबिक आज रिजल्ट आ जाएगा। इसके बाद बच्चे उच्च शिक्षा में एडमिशन के लिए कॉलेजों में अप्लाय कर सकेंगे।

रिजल्ट को लेकर बिहार स्कूल एजुकेशन बोर्ड का पूरा अमला तैयारी में जुटा है। रिजल्ट जारी होने के तत्काल बाद वेबसाइट क्रैश न हो जाय, इसके लिए तैयारियां चल रही हैं। साथ ही टॉपर्स की घोषणा को लेकर भी बिहार बोर्ड सतर्क है, क्योंकि इससे पहले कई बार टॉपर्स को लेकर विवाद हो चुके हैं।