रायपुरः छत्तीसगढ़ के कांकेर जिले में नक्सलियों के साथ हुई मुठभेड़ में सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के एक अधिकारी समेत चार सुरक्षाकर्मी शहीद हो गए हैं तथा दो अन्य अधिकारी घायल हुए हैं।

राज्य के वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों ने आज यहां बताया कि जिले के परतापुर थाना क्षेत्र के अंतर्गत माहला गांव के करीब नक्सलियों और सुरक्षा बल के बीच हुई मुठभेड़ में बीएसएफ के एक अधिकारी समेत चार सुरक्षाकर्मी शहीद हो गए या हैं तथा दो अन्य अधिकारी घायल हुए हैं।

पुलिस अधिकारियों ने बताया कि गुरुवार को माहला स्थित बीएसएफ के शिविर से बीएसएफ 114 बटालियन और जिला बल के संयुक्त दल को नक्सल विरोधी अभियान में भेजा गया था। लगभग दोपहर 12 बजे सुरक्षा बलों पर नक्सलियों ने हमला कर दिया।

फाइल फोटो
फाइल फोटो

जिसमें बीएसएफ के सहायक उप निरीक्षक बोरो, आरक्षक रामकृष्णन, सोमेश्वर और इशरार खान शहीद हो गए तथा सहायक कमांडेंट गोपूराम और निरीक्षक गोपाल राम घायल हो गए। उन्होंने बताया कि नक्सलियों के इस हमले के बाद सुरक्षा बलों ने भी जवाबी करवाई की और कुछ देर तक दोनों ओर से गोलीबारी के बाद नक्सली वहां से फरार हो गए।

इधर घटना के बाद अतिरिक्त बलों को घटनास्थल के लिए रवाना कर दिया गया था। अधिकारियों ने बताया कि शहीद सुरक्षा कर्मियों के शवों और घायलों को बाहर निकाल लिया गया है। घायलों का इलाज किया जा रहा है। क्षेत्र में नक्सलियों के खिलाफ अभियान जारी है।

इसे भी पढ़ेंः

नायडू सरकार को NGT ने दिया झटका, अवैध रेत खनन मामले में ठोका 100 करोड़ का जुर्माना

हाईटेक सिटी के पास मिले दो करोड़, TDP सांसद मुरली मोहन के खिलाफ मामला दर्ज

कांकेर लोकसभा सीट के लिए इस महीने की 18 तारीख को मतदान होगा। राज्य के नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में नक्सलियों द्वारा चुनाव बहिष्कार की घोषणा के बाद क्षेत्र में सुरक्षा बल के जवान लगातार अभियान में है।

छत्तीसगढ़ की 11 लोकसभा सीटों के लिए तीन चरणों में 11 अप्रैल, 18 अप्रैल और 23 अप्रैल को मतदान होगा। पहले चरण में नक्सल प्रभावित बस्तर लोकसभा सीट के लिए, दूसरे चरण में कांकेर, राजनांदगांव और महासमुंद लोकसभा सीट के लिए तथा तीसरे चरण में रायपुर, बिलासपुर, रायगढ़, कोरबा, जांजगीर चांपा, दुर्ग और सरगुजा लोकसभा सीट के लिए मतदान होगा।