लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को कहा कि राम जन्मभूमि पर हिंदू अपना दावा कभी नहीं छोड़ेंगे और जहां रामलला विराजमान हैं, वही राम जन्मभूमि है।

मुख्यमंत्री योगी रविवार को लखनऊ में एक कार्यक्रम में हिस्सा लेने पहुंचे थे। योगी ने कहा, "राम मंदिर हमारे लिए चुनावी मुद्दा कभी नहीं रहा, अयोध्या में जनभावना का सम्मान होना चाहिए। हमने पहले भी बातचीत की पेशकश की लेकिन सबूत मांगने पर हमेशा मुस्लिम पक्ष भागता था।"

उन्होंने कहा, "अयोध्या में राम जन्मभूमि का दावा हिंदू कभी नहीं छोड़ेंगे। जहां रामलला विराजमान हैं, वही जन्मभूमि है। मुसलमान बाबरी मस्जिद की बात छोड़ें, एएसआई के सर्वे में भी जन्मभूमि की जगह मंदिर की बात कही गई है।"

यह भी पढ़ें:

अयोध्या मामले पर ये क्या बोल रहे हैं योगी आदित्यनाथ, कर रहे 24 घंटे का दावा

योगी ने कहा, "2014 में बसपा की जीरो सीटें आई थीं, अगर जीरो से किसी को गुणा करेंगे तो जीरो ही आएगा। भाजपा इस बार अमेठी और आजमगढ़ की सीट जीतेगी।"

मुख्यमंत्री ने कहा, "हमारे लिए इस बार चुनाव आसान है, इस बार इन दोनों-तीनों (सपा-बसपा -कांग्रेस) को निपटा दिया जाएगा। सपा-बसपा के कारनामों को सभी जानते हैं।"

उन्होंने कहा, "प्रियंका जी पहली बार चुनावी समर में नहीं उतरी हैं। 2017 में तो उन्होंने दोनों लड़कों (राहुल व अखिलेश) को मिलाने का काम किया था लेकिन उप्र ने दोनों को खारिज कर दिया। कांग्रेस आज प्रदेश के अंदर कहीं है ही नहीं फिर इतनी छटपटाहट क्यों है?"

बेरोजगारी के मुद्दे पर योगी आदित्यनाथ ने कहा, "मोदी सरकर के आने के बाद रोजगार के कई अवसर शुरू किए गए जिन पर मोदी सरकार तेजी से काम कर रही है।"

मुख्यमंत्री योगी ने कहा, "मोदी सरकार ने देश को ये सिखाया है कि दुश्मन कितना भी बड़ा हो मुंहतोड़ जवाब देंगे। नए भारत में हर चुनौती से निपटने की क्षमता है।"

योगी ने कहा, "पहले आतंकी हमलों पर हम सिर्फ धमकी देने तक सीमित रह जाते थे। मोदी जी नेतृत्व में भारत ने अपनी सामरिक शक्ति भी दिखाई है। जो लोग आतंकियों के नाम के आगे जी लगाते हैं, उन्हें शर्म नहीं आती।"