मुंबई: महानगर के सीएसटी स्टेशन के बाहर एक फुटओवर ब्रिज गिरने से बड़ा हादसा हुआ है। जिसमें कम से कम 30 लोगों के घायल होने की बात कही जा रही है। जबकि दो महिलाओं सहित 4 लोगों की मौत हो गई है।

मुंबई के छत्रपति शिवाजी स्टेडियम के बाहर इस हादसे से अफरातफरी मची है। घायलों को तत्काल नजदीकी कामा अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

मुंबई ब्रिज हादसा: हेल्पलाइन नंबर-022-22621855 और 022-22621955 जारी किया गया है।

BMC की इमरजेंसी हेल्पलाइन नंबर:
9833806409
022-22621855
022-22621955

फिलहाल मलबे को हटाने का काम युद्धस्तर पर जारी है। ऐसी आशंका जताई जा रही है कि कुछ लोग इस मलबे के भीतर दबे हो सकते हैं।

मुंबई रेल हादसे पर रेल मंत्री पीयूष गोयल ने गहरा दुख जताया है। साथ ही रेल प्रशासन को राहत और बचाव कार्य में सहयोग करने का आदेश दिया है। वहीं महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस भी बीएमसी अधिकारियों के संपर्क में हैं।

इस बड़े हादसे के बाद राजनीति भी शुरू हो गई है। विरोधी नेता अब राज्य सरकार पर नाकामी का आरोप लगा रहे हैं। जबकि रेलवे इस हादसे से कन्नी काटने में जुटा है।

बताया जाता है कि हादसे के वक्त लोग दफ्तर से अपने घरों की ओर लौट रहे थे। इसी बीच ये ब्रिज ध्वस्त हुआ और बड़ी संख्या में लोग इसकी चपेट में आ गए।

दक्षिण मुंबई में हादसे का शिकार हुआ ब्रिज रेलवे स्टेशन और आजाद मैदान पुलिस व टाइम्स ऑफ इंडिया बिल्डिंग को जोड़ता है।

इस हादसे में घायलों की संख्या में और इजाफा हो सकता है। साथ ही कुछ लोगों के हताहत होने की बात भी सामने आ सकती है।

हादसाग्रस्त ब्रिज करीब सौ साल पुराना बताया जाता है। फिलहाल बीएमसी पर इस दुर्घटना के बाद आरोप लगने लगे हैं।

यह भी पढ़ें:

मुंबई ब्रिज हादसा: 22 की मौत, 39 अन्य घायल, मृतकों के परजिनों को 10-10 लाख का मुआवजा

आपको बता दें कि इससे पहले भी मुंबई के अंधेरी इलाके में रोड ओवर ब्रिज का एक हिस्सा गिर गया था। इस हादसे की वजह से अंधेरी से विले पार्ले के बीच लोकल ट्रेन सेवा प्रभावित हो गई थी। कई क्षेत्रों में बीती रात हुई भारी बारिश और जलभराव को इस दुर्घटना का कारण माना गया था। इसे गोखले ब्रिज के नाम से भी जाना जाता है। यह अंधेरी ईस्ट को अंधेरी वेस्ट से जोड़ता है।