जम्मू ग्रेनेड ब्लास्टः गिरफ्तार यासिर जावेद भट्ट ने हिजबुल कमांडर के कहने पर ग्रेनेड फेंका

जम्मू बस स्टैंड पर धमाका - Sakshi Samachar

जम्मू: एक बार फिर जम्मू में ग्रेनेड हमला हुआ जिसमें कम से कम 28 लोगों के घायल होने की जानकारी है। घायलों में 2 की हालत गंभीर बताई जाती है। जम्मू बस स्टैंड पर ये धमाका हुआ है।

पुलिस ने जम्मू एवं कश्मीर में बस स्टैंड में हुए ग्रेनेड हमले के आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। इस बात की जानकारी खुद डीजीपी दिलबाग सिंह ने दी। गौरतलब है कि इस ग्रेनेड हमले में एक युवक की मौत हो चुकी है और 28 लोग घायल हुए हैं। जिनका अस्पताल में इलाज चल रहा है।


जम्मू के बस स्टैंड पर हुए ग्रेनेड हमले में पुलिस ने बड़ा खुलासा किया है। आईजीपी जम्मू मनीष कुमार सिन्हा ने बताया कि ग्रेनेड हमले में हिजबुल का हाथ था। उन्होंने बताया कि ग्रेनेड हमले में गिरफ्तार आरोपी यासिर भट्ट ने अपना गुनाह कबूल लिया है। पुलिस ने बताया कि गिरफ्तार यासिर ने हिजबुल मुजाहिद्दीन के डिस्ट्रिक कमांडर के कहने पर इस ग्रेनेड हमले को अंजाम दिया।


ताजा जानकारी के मुताबिक धमाके की चपेट में आने से इलाज के दौरान एक युवक की मौत हो गई है। बता दें कि मृतक की पहचान उत्तराखंड के हरिद्वार के रहने वाले 17 वर्षीय मो. शारिक के रूप में हुई है, जबकि 28 लोग घायल बताए जा रहे हैं।

जम्मू बस स्टैंड बम धमाके में घायलों की सूची

पुलिस के मुताबिक ये आतंकी हमला हो सकता है। बीते एक साल में जम्मू में इस तरह का ये तीसरा बड़ा ग्रेनेडे हमला माना जा रहा है।


पुलिस के मुताबिक जम्मू में शांति के हालात पर चोट पहुंचाने के मकसद से ये कार्रवाई हो सकती है। पुलिस फिलहाल साक्ष्य इकट्ठा करने में जुटी है।आम लोगों को घटनास्थल पर जाने से रोका जा रहा है।

यह भी पढ़ें:

जम्‍मू-कश्‍मीर : घुसपैठ की कोशिश कर रहे आतंकियों से मुठभेड़ में दो जवान घायल


प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक धमाका काफी जबरदस्त था। लिहाजा इसके आतंकी हमले से इनकार नहीं किया जा सकता है। हालांकि ये भी आशंका है कि बस में रखे सिलेंडर या अन्य विस्फोटक सामान के कारण ये दुर्घटना भी हो सकती है।

बताया जाता है कि बस में कम ही लोग सवार थे। लिहाजा अधिक लोग इसके चपेट में नहीं आए।

जिस जगह ये घटना हुई वो जम्मू का सबसे व्यस्ततम बस स्टैंड है। घायलों को जम्मू के मेडिकल कॉलेज अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने घटना की बबात मीडिया को जानकारी दी। पिछले साल मई से लेकर अब तक बस स्टैंड इलाके में आतंकवादियों की तरफ से हथगोले के जरिए किया गया यह तीसरा हमला है।

जम्मू के पुलिस महानिरीक्षक (आईजी) एम के सिन्हा ने बताया कि विस्फोट के बाद बी सी रोड के आसपास के इलाके की घेराबंदी कर दी गई और हथगोला फेंकने वाले को पकड़ने के लिए बड़े स्तर पर तलाश अभियान चलाया जा रहा है।

तत्काल मौके पर पहुंचे एवं स्थिति का जायजा लेने वाले सिन्हा ने कहा कि प्रारंभिक जांच से लगता है कि किसी ने हथगोला फेंका है। घटना में घायल हुए 26 लोगों को गवनर्मेंट मेडिकल कॉलेज (जीएमसी) अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि विस्फोट में बस स्टैंड पर खड़ी सरकारी बस के आगे के शीशे टूट गए। साथ ही उन्होंने बताया कि घायलों में से दो की हालत ‘गंभीर' है।

क्या कहा चश्मदीद ने

प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक धमाका काफी जोरदार था। ग्रेनेड हमले के तत्काल बाद घायल लोगों में चीख पुकार मच गई। ऐसा लगता है कि किसी बिल्डिंग से बस के ऊपर ग्रेनेड से हमला किया गया।

Advertisement
Back to Top