नई दिल्ली : भारतीय वायु सेना के पायलट, विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान शुक्रवार रात भारत वापस लौट आए। उन्हें पाकिस्तान ने उस समय अपने कब्जे में ले लिया था जब उनका लड़ाकू विमान मिग-21 पाकिस्तान में हादसे का शिकार हो गया था। अभिनंदन की अगवानी सीमा सुरक्षा बल के वरिष्ठ अधिकारियों ने बाघा बॉर्डर पर की। अभिनंदन को शून्य रेखा (भारत-पाक सीमा पर नो मैंस जोन) पर रिसीव किया गया।

अभिनंदन को शून्य रेखा (भारत-पाक सीमा पर नो मैंस जोन) पर रिसीव किया गया। अटारी बॉर्डर पर शुक्रवार सुबह से ही लोगों का जमावड़ा होने लगा था। पलकें बिछाकर पूरा हिंदुस्तान अभिनंदन के अभिनंदन का इंतजार कर रहा था ये इंतजार कुछ ज्यादा ही लंबा था। लंबे इतंजार के बावजूद लोग विंग कमांडर के इंतजार में सड़कों पर डटे रहे।

पाकिस्तान का ओछापन

अभिनंदन की वतन वापसी इतनी आसान न रही क्योंकि पाकिस्तान ने उन्हें भारत भेजने से पहले कई बार समय का परिवर्तन किया। पाकिस्तान अभिनंदन को भारत को सौंपे तो उसे दुनिया को दिखाने का मौका मिले। पाकिस्तान चाहता था कि वाघा-अटारी बॉर्डर पर शाम के बीटिंग रिट्रीट समारोह के दौरान विंग कमांडर अभिनंदन को भारत के हवाले किया जाए।

पाकिस्तान के कथित 'गुडविल जेस्चर' पर सवाल उठाए जा रहे हैं। पाकिस्तानी सरकार की ओर से जारी प्रेस रिलीज में अभिनंदन को POW लिखा गया। लेकिन यह कहीं उसमें जिक्र नहीं किया गया कि उन्हें जिनेवा कन्वेंशन के तहत छोड़ा गया है। खुद को एक लोकतंत्र कह कर ढिंढोरा पीटने वाला पाकिस्तान एक ओर POW की बात करता है जबकि दूसरी ओर जिनेवा कन्वेंशन की बात भी नहीं उठाता। इतना ही नहीं जिनेवा कन्वेंशन को दरकिनार करते हुए दुनिया में यह जताने की कोशिश करता है कि भारतीय कमांडर को 'गुडविल' और शांति संदेश के लिए छोड़ा जा रहा है।

पाकिस्तान का दोमुंहा सच भी सामने आया जब उसने अभिनंदन को भारत सौंपने से पहले एक वीडियो जारी किया जिसमें एडिटिंग की गई पाकिस्तान ने ऐसा कर फिर साबित कर दिया कि वह अपनी हरकतों से बाज नहीं आएगा. प्रेस रिलीज में पीओके लिखने के पीछे भी उसकी नापाक हरकतें अहम कारण हैं क्योंकि पिछले कई दिनों से वह एक से बढ़ कर एक गलतियां कर रहा है।

इसे भी पढ़ें :

विंग कमांडर अभिनंदन के लिए अगले कुछ दिन होंगे चुनौती भरे, हर टेस्ट में उतरना होगा खरा

पाकिस्तान अगर प्रेस रिलीज में POW लिख रहा है तो इसका मतलब है कि इस लड़ाई को वह अंतरराष्ट्रीय स्तर पर ले जाना चाहता है। पाकिस्तान जरूर चाहेगा कि अंतरराष्ट्रीय अदालत में कुलभूषण जाधव के साथ अभिनंदन का जिक्र कर दे, संयुक्त राष्ट्र में भी इसका जिक्र कर दे, ऐसी परिस्थितियों में उसे इस बात का जवाब देना पड़ेगा कि अगर अभिनंदन को आंख पर चोट लगी है तो क्यों, वीडियो क्यों बनाए गए क्योंकि जिनेवा कन्वेंशन के तहत वीडियो नहीं बना सकते।

अगर किसी दूसरे देश के फौजी को पाकिस्तान ने अपने पास रखा तो वह उसकी तस्वीर भी नहीं खींच सकता लेकिन पाकिस्तान ने वीडियो बनाया। इसलिए एक पसोपेश की हालत में प्रेस रिलीज में अभिनंदन को पीओडब्लू तो लिखा गया लेकिन पाकिस्तान शायद यह भूल रहा है कि ऐसी सूरत में उसका विश्व पटल ओछेपन को दर्शाता है।

कैसे हुआ हादसा

बुधवार की सुबह पाकिस्तान एक लड़ाकू विमान जब भारतीय सीमा के ऊपर मंडराया, तभी भारत के मिग विमानों ने उड़ान भरी और पाकिस्तान के लड़ाकू विमानों को उनकी सीमा में खदेड़ दिया. इसी दौरान मिग 21 उड़ा रहे विंग कमांडर अभिनंदन वर्तमान पाकिस्तान के लड़ाकू विमान F-16 का पीछा करते हुए पकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में दाखिल हो गए. उन्होंने पाकिस्तानी एफ-16 विमान को मार गिराया. इस दौरान उनका एयरक्रॉफ्ट हादसे का शिकार हो गया।

मिग-21 विमान बुधवार की सुबह गिरा, वहां धूल और धुएं का गुबार दिखा और धमाके की आवाज सुनाई पड़ी. मिग-21 विमान एलओसी से करीब 7 किलोमीटर दूर भिंभर जिले में गिरा था। विमान के जमीन पर आने से पहले ही विंग कमांडर अभिनंदन वर्तमान ने पैराशूट खोल लिया था और वह पाक अधिकृत कश्मीर में पहुंच गए।