नई दिल्ली : विंग कमांडर अभिनंदन अटारी-वाघा बार्डर से स्वदेश लौट आए हैं। यहां पर उनका जोरदार स्वागत किया गया। पाकिस्तानी अधिकारियों ने उन्हें बॉर्डर तक पहुंचाया। अभिनंदन के स्वागत को लेकर मानों पूरा देश अटारी-वाघा बार्डर पर उमड़ पड़ा हो। दुश्मन के गढ़ से जब अभिनंदन स्वदेश लौटे तो देशवासियों के लिए यह एक भावुक करने वाला पल था। पाकिस्तानी सेना के हाथों पकड़े जाने के दो दिन बाद अभिनंदन स्वदेश लौट रहे हैं।

पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने भारतीय वायुसेना के विंग कमांडर अभिनंदन वर्थमान को स्वदेश वापसी की बधाई देते हुए शुक्रवार को कहा कि वह हवाईअड्डे पर उनकी अगवानी करने के लिए इसलिए मौजूद नहीं हैं, क्योंकि वह नहीं चाहते कि सेना के प्रोटोकॉल का किसी भी तरह से उल्लंघन हो।

वाघा बार्डर पर तैनात सुरक्षाकर्मी
वाघा बार्डर पर तैनात सुरक्षाकर्मी

मुख्यमंत्री ने एक बयान में कहा, "मैं वहां जाना चाहता था, क्योंकि मेरी तरह ही वह और उनके पिता दोनों राष्ट्रीय रक्षा अकादमी से हैं और अगर मैं बहादुर अधिकारी का स्वागत करता तो यह मेरे लिए बहुत ही सुखद और खुशी का क्षण होता।"

उन्होंने कहा, "वर्ष 1965 या 1971 के युद्ध का कोई भी युद्धबंदी वापस आया तो उसे पहले चिकित्सा परीक्षण के लिए भेजा गया। उसके बाद एक डीब्रीफिंग हुई। विंग कमांडर अभिनंदन के साथ भी कुछ ऐसा ही होने की संभावना है।"

मुख्यमंत्री ने हालांकि अभिनंदन की वापसी पर बहुत गर्मजोशी से बधाई देते कहा कि जिस तरह से वह कैद में होकर भी पाकिस्तानी सशस्त्र बलों के सवालों के जवाब दे रहे थे, उससे पूरे देश को गर्व है।

पाक ने अभिनंदन को विमान से भेजने के अनुरोध को ठुकराया

भारतीय वायु सेना के पायलट अभिनंदन वर्तमान को रिहा करने की पाकिस्तान की घोषणा के बाद भारत ने पाकिस्तान से कहा कि वह चाहता है कि पायलट को हवाई मार्ग से वापस भेजा जाए ना कि वाघा सीमा से। हालांकि देर रात पाकिस्तान ने भारत को जवाब दिया कि वह अटारी-वाघा सीमा से ही पायलट को वापस भेजेगा।

यह भी पढ़ें :

अटारी-वाघा बॉर्डर पर रद्द हुआ बीटिंग रिट्रीट समारोह, जानिए क्यों

जानिए कौन हैं विंग कमांडर अभिनंदन, जिन्हें पकड़ने का दावा कर रहा पाकिस्तान

भारतीय रक्षा प्रतिष्ठान भी विंग कमांडर वर्तमान को वापस लाने के लिए एक विशेष विमान पाकिस्तान भेजने पर विचार कर रहा था। वर्तमान अब वाघा सीमा से स्वदेश लौटेंगे जो पाकिस्तान के लाहौर से करीब 25 किलोमीटर दूर है।

गौरतलब है कि पायलट को बुधवार को उस समय पकड़ा गया था जब उनके मिग 21 विमान को मार गिराया गया और वह नियंत्रण रेखा के पार पाकिस्तान की ओर उतरे थे। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने बृहस्पतिवार को संसद में घोषणा की थी कि वर्तमान को ‘‘शांति सद्भाव'' के तौर पर शुक्रवार को रिहा किया जाएगा।