मुंबई: वायुसेना के पायलट विंग कमॉन्डर अभिनंदन वर्धमान के पिता ने बृहस्पतिवार को कहा कि उन्हें अपने बेटे की बहादुरी पर गर्व है और उन्हें उम्मीद है कि वह सुरक्षित वापस लौट आएंगे। इसके साथ ही उन्होंने देशवासियों से मिले समर्थन और दुआओं के लिए उनका आभार जताया।

विंग कमान्डर फिलहाल पाकिस्तान की हिरासत में हैं। एयर मार्शल (सेवानिवृत्त) एस वर्धमान ने एक बयान में कहा कि उनके बेटे ने कैद में होने के बावजूद (सोशल मीडिया में आए कथित वीडियो में)‘सच्चे सिपाही' की तरह बात की और वह प्रार्थना कर रहे हैं कि पड़ोसी मुल्क में उन्हें और यातनाएं नहीं दी जाएं और वह सुरक्षित वापस लौट आएं।

उन्होंने कहा, ‘‘आप की चिंताओं और दुआओं के लिए शुक्रिया मित्रों। मैं ऊपर वाले की कृपा के लिए उनका शुक्रिया अदा करता हूं,अभि जिंदा है, घायल नहीं है, दिमारी तौर पर मजबूत है, देखिए उसने कैसे बहादुरी से बात की....एक सच्चा सिपाही...हमें उस पर गर्व है।''

सेवानिवृत्त अधिकारी ने कहा,‘‘मुझे यकीन है कि आप सब का आशिर्वाद और दुआएं उनके साथ हैं....उनकी सुरक्षित वापसी के लिए प्रार्थनाएं। मैं प्रर्थना करता हूं कि उन्हें यातनाएं नहीं दी जाएं और वह अच्छी सेहत के साथ सुरक्षित वापस लौटें।''

उन्होंने मुसीबत के इस वक्त में परिवार का साथ देने के लिए जनता का आभार प्रकट किया। उन्होंने कहा, ‘‘आपके समर्थन और ऊर्जा से हमें ताकत मिल रही है।

इसे भी पढ़ेंः

फ्रांस, अमेरिका और UK ने आतंकी मसूद अजहर को ब्लैकलिस्ट करने के लिए UN में दिया प्रस्ताव

गौरतलब है कि भारत के द्वारा पाकिस्तान में की गई एयरस्ट्राइक के बाद दोनों देशों के बीच तनाव जारी है। पाक की ओर से दावा किया गया था कि उसने भारत के दो विमान को ढेर किया था। पाकिस्तान के द्वारा किए गए इस हमले का भारत की ओर से माकूल जवाब दिया गया है। इस बीच विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार और वायुसेना कीसाझा प्रेसकान्फ्रेस की थी। इस कान्फ्रेंस में एयरवाइस चीफ मार्शल आर जी के कपूर भी मौजूद थे।

संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए रविश कुमार ने बताया कि पाकिस्तान ने भारतीय सैन्य प्रतिष्ठानों को निशाना बनाया है। उन्होंने कहा, "एक पाकिस्तानी विमान को गोली मार दी गई। पाकिस्तान की ओर से किए गए हमले में हमने एक मिग 21 फाइटर जेट खो दिया है। एक पायलट लापता हो गया है। पाकिस्तान ने दावा किया है कि उन्होंने उसे हिरासत में ले लिया है। हालांकि, हम अभी भी तथ्यों का पता लगा रहे हैं।,"