नई दिल्ली : भारत में इस समय विंग कमांडर अभिनंदन वर्तमान की चर्चा है। गुरुवार को पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने इसकी घोषणा कर दी कि शुक्रवार को उन्हें रिहा कर दिया जाएगा। भारतीय क्रिकेटर शिखर धवन ने भी इस पर अपनी खुशी जाहिर की और एक भावुक ट्वीट के साथ अपनी भावनाएं सामने रखीं।

बुधवार को एलओसी पर सैन्य ऑपरेशन के दौरान मिशन में शामिल मिग 21 बाइसन विमान उडा़ रहे पायलट आईएएफ के विंग कमांडर अभिनंदन को पाकिस्तानी सेना ने अपने हिरासत में ले लिया था। सभी उनकी रिहाई की मांग कर रहे थे और अब शुक्रवार को वो घर लौटेंगे। शिखर धवन ने अपनी भावनाएं जाहिर करते हुए ट्वीट किया। उन्होंने लिखा, 'बेसब्री से इंतजार है अपने जांबाज जवान के घर लौटने का। वेलकम बैक अभिनंदन।'

14 फरवरी को कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले के बाद से ही भारतीय सेना पाकिस्तान से बदला लेने की पूरी तैयारी में थी। हमले के 13वें दिन यानि 26 फरवरी मंगलवार को भारतीय वायु सेना ने पीओके स्थित जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी ठिकानों पर एयर स्ट्राइक कर उन्हें ध्वस्त कर दिया था।

भारत की कार्रवाई के बाद पाकिस्तान बौखला गया और बुधवार को उसने LOC के पास फिर से वायु सीमा का उल्लंघन किया जहां भारतीय सेना ने भी उनको करारा जवाब दिया। इसी समय सैन्य ऑपरेशन के दौरान विंग कमांडर अभिनंदन वर्तमान को पाकिस्तानी सेना ने अपने हिरासत में ले लिया था। अब शुक्रवार को अभिनंदन वर्तमान घर वापस लौट रहे हैं और पूरे देश को उनकी वापसी का इंतजार है।

इसे भी पढ़ें :

भारतीय सेना ने पाक के नापाक इरादों का किया खुलासा, एफ-16 विमान के दिखाए सबूत

PM इमरान खान का बड़ा ऐलान- हम शांति चाहते हैं, कल करेंगे विंग कमांडर अभिनंदन को रिहा

वहीं दूसरी तरफ सेना के तीनों अंगों की प्रेसवार्ता में एयर वाइस मार्शल आर.जी.के. कपूर ने मीडिया को बताया कि पाकिस्तान वायुसेना (पीएफए) ने बुधवार को जम्मू-कश्मीर स्थित राजौरी के पश्चिमी इलाके में भारतीय हवाईक्षेत्र का उल्लंघन किया।

पाकिस्तान भारतीय सैन्य ठिकानों को निशाना बनाने की कोशिश में था, लेकिन भारत के मिग, सुखोई और मिराज विमानों द्वारा पाकिस्तानी विमानों को वापस लौटने को मजबूर कर दिया गया।

एयर वाइस मार्शल कपूर ने कहा, " पाकिस्तान ने दावा किया कि विमानों से खुले इलाके में बम दागे गए, लेकिन असलियत यह है कि पाकिस्तान ने सैन्य ठिकानों को निशाना बनाया, लेकिन उनकी योजनाओं को नाकाम कर दिया। आईएएफ की त्वरित कार्रवाई के कारण कोई खास नुकसान नहीं हुआ।"

उन्होंने कहा, "आईएएफ हमेशा सतर्क है और किसी भी संभावित घटनाओं से निपटने को तैयार है।"