नई दिल्ली : भारत और पाकिस्तान के तनाव के बीच एक खबर ऐसी है जो हर किसी की जुबान पर है, वो है इंडियन एयरफोर्स के पायलट अभिनंदन वर्धमान के लापता हो जाने की। भारतीय सीमा में घुसे पाकिस्तानी विमान को खदेड़ते हुए भारतीय वायु सेना का मिग 21 पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में क्रैश हो गया। बताया जा रहा है कि इस विमान को भारतीय वायु सेना के विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान उड़ा रहे थे।

पहले किया दो पायलटों को पकड़ने का दावा, फिर बयान से पलटा पाकिस्तान

पाकिस्तान की ओर से पहले दावा किया जा रहा था कि दो भारतीय पायलट पाकिस्तान की गिरफ्त में हैं। जबकि बुधवार शाम वो अपने पहले किए गए दावे से पलट गए। पाकिस्तान के सेना के प्रवक्ता आसिफ गफूर ने दावा किया है कि पाकिस्तान ने दो नहीें बल्कि एक ही जवान को पकड़ा है। वो इस समय हॉस्पिटल में भर्ती है और उनका इलाज चल रहा है।

इससे पहले पाकिस्तान ने दावा किया था कि उनके पास भारत के दो पायलट हैं। पाकिस्तानी सेना उन्हे गिरफ्तार किया है। पाकिस्तान सेना द्वारा एक वीडियो जारी किया गया , जिसमें पकड़े गए भारतीय पायलट की पहचान और संबंधित विवरण दिखाया गया है। इस वीडियो में पाकिस्तान मीडिया द्वारा जारी किए गए वीडियो में अभिनंदन वर्धमान खुद को विंग कमांडर बता रहे हैं, जिनका सर्विस नंबर 27981 है। हालांकि पाकिस्तानी मीडिया की ओर से पेश किए जा रहे दावे को लेकर भारत की ओर से जांच शुरू की।

भारत सरकार ने पाकिस्तान से लापता पायलट को सौंपने को कहा

पाकिस्तान के कब्जे में भारतीय पायलट को लेकर भारत सरकार की ओर से पाकिस्तान को कहा गया है कि वो हमारे पायलट को कोई नुकसान न पहुंचाए। इसके अलावा सरकार ने लापता पायलट को छोडने को भी कहा है। इसके साथ ही भारत ने पाकिस्तान से कड़ी आपत्ति जताते हुए कहा है कि वो हमारे पायलट की कोई तस्वीर न दिखाए, क्योंकि उन्होंने पायलट की तस्वीर दिखाकर उल्लंघन किया है।

कौन है अभिनंदन

अभिनंदन मूलत तमिलनाडु के तिरवंणामलई जिले के तिरुपणवुरू के रहने वाले हैं। उनका परिवार चेन्नई के तांबरम स्थित एयरफोर्स एकेडमी में रहता है। अभिनंदन के दो बच्चे हैं और दिल्ली में रहकर पढ़ाई कर रहे है। अभिनंदन पिता भी एयरमार्शल रह चुके हैं। अभिनंदन की पढ़ाई उडुमलईपेट स्थित सैनिक स्कूल में हुई है। अभिनंदन पाकिस्तान द्वारा भारतीय सीमा में हमला के दौरान दुश्मन देश के जहाज का पीछा कर रहे थे तभी उनका प्लेन दुश्मन देश के क्षेत्र में गिर गया। अभिनंदन को सुरक्षित छोड़ देने के लिए उनके मामा गुंगानाधन अपील की है।

इसे भी पढ़ें : भारत ने माना जवाबी कार्रवाई में ध्वस्त हुआ मिग विमान, एक पायलट भी लापता

जिनेवा संधि के तहत नहीं धमका सकता है पाकिस्तान...

गौरतलब है कि अंतरराष्ट्रीय जिनेवा संधि के तहत युद्धबंदियों को डराने-धमकाने का काम या उनका अपमान नहीं किया जा सकता। युद्धबंदियों को लेकर जनता में उत्सुकता भी पैदा नहीं की जा सकती। केवल युद्धबंदियों को अपना नाम, सैन्य पद और नंबर बताने का प्रावधान है।