नई दिल्ली: पुलवामा में जैश-ए-मोहम्मद के आतंकवादियों को चारों खाने चित करते हुए मेरठ के अजय कुमार शहीद हुए। उनकी अंत्येष्टि के वक्त तमाम नामी गिरामी लोग पहुंचे। इन्हीं में एक थे केंद्रीय मंत्री सत्यपाल सिंह, जिनकी इस गमगीन माहौल में बत्तीसी बाहर देख लोगों का मुंह खुला का खुला रह गया। अब ये तो पता नहीं कि गम में डूबे माहौल में नेताजी किस बात पर खुश हो रहे थे। लेकिन नेताजी की इस हरकत को लोगों ने आड़े हाथों लिया।

अंत्येष्टि के वक्त मंत्री सत्यपाल सिंह स्थानीय नेता की किसी बात पर ठहाके लगाते नजर आए। जिससे साफ जाहिर हुआ कि शहीद के जाने का इन्हें कतई गम नहीं। शक तो लोगों को बाकी नेताओँ पर भी होने लगा है जो शहीद परिवार की मातमपुर्सी करने के लिए रोनी सूरत बनाकर आ जाते हैं। लोगों को लगने लगा है कि नेता युवाओं की इस बड़ी क्षति को लेकर गंभीर नहीं है। रस्म अदायगी की दरकार ही इन्हें शहीद के घर खींच लाती है।

यह भी पढ़ें:

“फिक्र मत करना मैं ऑपरेशन पर जा रहा हूं”, पुलवामा इनकाउंटर के हीरो अजय ने पत्नी से कही थी ये बात

यहां तक कि शहीद अजय कुमार के परिजनों को भी सत्यपाल सिंह की ये हरकत नागवार गुजरी। जब लोगों ने नेताजी को टोका तो सत्यपाल सिंह ने हाथ जोड़कर माफी मांगी। मौके पर यूपी सरकार के मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह, मेरठ से बीजेपी सांसद राजेंद्र अग्रवाल भी मौजूद थे।

यही नहीं कई मंत्री और नेता अंत्येष्टि स्थल पर जूता पहनकर बैठे नजर आए। हालांकि लोगों की नाराजगी देखते ही नेताओं ने फटाफट अपने जूते उतार लिए। जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल है।

मामला बढ़ता देख केंद्रीय मंत्री सत्यपाल सिंह ने ट्विटर पर सफाई दी। बिना खेद जताए सत्यापल ने उल्टा लोगों पर ही बात का बतंगड़ नहीं बनाने की तोहमत लगा दी।