गुवाहाटी: जम्मू एवं कश्मीर के पुलवामा में 14 फरवरी को हुए आत्मघाती हमले के संबंध में एक फेसबुक पोस्ट को लेकर एक कॉलेज की शिक्षका को निलंबित कर दिया गया है।हमले में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के 49 जवान शहीद हुए हैं।

शहर के आइकॉन अकेडमी जूनियर कॉलेज में अंग्रेजी विभाग के सहायक प्रोफेसर के रूप में काम करने वाली पाप्री बनर्जी ने गुरुवार को आतंकवादी हमले की निंदा की, लेकिन जम्मू एवं कश्मीर में नागरिकों पर अत्याचार के लिए भारतीय सेना को भी दोषी ठहराया।

कॉलेज प्राधिकारियों की ओर से शनिवार को जारी एक पत्र में कहा गया है, "जब तक सक्षम प्राधिकारी द्वारा मामले को हल नहीं कर लिया जाता है, तब तक आपको तत्काल प्रभाव से निलंबित किया जा रहा है।"

बनर्जी ने अपने फेसबुक पोस्ट पर धमकियां मिलने का आरोप लगाया है।
बनर्जी ने अपने फेसबुक पोस्ट पर धमकियां मिलने का आरोप लगाया है।

पोस्ट में धमकियां मिलने का लगाया आरोप

बनर्जी ने कहा कि पोस्ट को लेकर उन्हें कई यूजर्स से धमकियां मिली हैं। उन्होंने शनिवार को एक अन्य फेसबुक पोस्ट में कहा, "मेरे इनबॉक्स में लगातार दुष्कर्म, मारपीट और जान से मार देने की धमकी भरे मैसेज आ रहे हैं। अगर मुझे कोई नुकसान पहुंचता है तो असम पुलिस को मेरी पिछली एफआईआर में दर्ज नामों के खिलाफ कार्रवाई करनी चाहिए, वे पूरी तरह से जिम्मेदार होंगे।"