मुजफ्फरनगर दंगों के 7 आरोपियों को उम्रकैद, 2013 का है मामला  

कांसेप्ट इमेज - Sakshi Samachar

मुजफ्फरनगर : उत्तर प्रदेश के मुजफ्फर नगर की स्थानीय अदालत ने 2013 में हुए मुजफ्फरनगर दंगों में सात लोगों को दोषी करार दिया है। 2013 में इस दंगे के सभी 7 आरोपियों को स्थानीय अदालत ने उम्रकैद की सजा सुनाई है।


इनमें से एक आरोपी वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए अदालत में पेश हुआ था। कहा जाता है कि 2013 मे दो युवकों की हत्या के बाद मुजफ्फरनगर दंगे भड़के थे।


जिले के सरकारी वकील राजीव शर्मा ने बुधवार को बताया कि अतिरिक्त जिला और सत्र न्यायाधीश ने 27 अगस्त, 2013 को युवकों की हत्या और दंगों के मामले में मुजम्मिल, मुजस्सिम, फुरकान, नदीम, जनांगिर, अफजल और इकबाल को दोषी करार दिया।

मुजफ्फरनगर के कवल गांव में भड़के इन दंगों में 60 लोगों की मौत हुई थी। अदालत ने बुधवार को सात लोगों को गौरव और सचिन की हत्या का दोषी करार दिया।

मुजफ्फरनगर दंगों को लेकर अखिलेश यादव सरकार की देशव्यापी आलोचना हुई थी। लंबे समय तक अल्पसंख्यक समुदाय लोगों को रिहैबिलिटेशन कैंपों में रहना पड़ा था। इन दंगों के लपेटे में भाजपा के पश्चिमी यूपी के बड़े नेताओं जैसे संगीत सोम, सुरेश राणा और संजीव बालियान पर भी आई थी।

इन दंगों में तत्कालीन सपा सरकार के कद्दावर मंत्री आजम खान भी पर सोशल मीडिया और अन्य जगहों पर प्रभाव डालने के कथित आरोप लगे थे।

Advertisement
Back to Top