नई दिल्ली : वाम दलों के समर्थन वाले किसान संगठन अखिल भारतीय किसान सभा ने मोदी सरकार के बजट को किसान विरोधी बताते हुये आगामी 13 फरवरी को इसके खिलाफ देशव्यापी प्रदर्शन करने की घोषणा की है। भाकपा के वरिष्ठ नेता और अखिल भारतीय किसान सभा के महासचिव अतुल कुमार अनजान ने शनिवार को बताया कि वित्त मंत्री पीयूष गोयल द्वारा शुक्रवार को पेश किया गया अंतरिम बजट गांव, किसान और गरीब विरोधी है।

इसके विरोध में किसान सभा के बैनर तले पूरे देश में 13 फरवरी को किसान अंतरिम बजट की प्रतियां जलाकर अपना विरोध दर्ज करायेंगें अनजान के कहा ‘‘मोदी सरकार दो सालों से किसान की आय दोगुना करने का दावा कर रही है। लेकिन बजट में प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि के नाम पर किसानों को प्रति माह पांच सौ रुपये देने जैसी घोषणाओं ने कृषि क्षेत्र को निराश करते हुये किसानों को मजबूती प्रदान करने के सरकार के दावों की पोल दी है।

इसे भी पढ़ें :

दिल्ली के वीवीआईपी जोन में पहुंचा किसान मार्च, टकराव से बच रही पुलिस

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि एक छलावा मात्र है और इससे बेसहारा किसानों को प्रतिदिन तीन रुपए तीस पैसे देना किसान की बदहाली का घोर अपमान है। साथ ही उन्होंने अंतरिम बजट के प्रावधानों के हवाले से दावा किया कि कृषि क्षेत्र को मिल रही सब्सिडी को सरकार भविष्य में खत्म कर देगी।

उन्होंने कहा कि मोदी सरकार किसान विरोधी नीतियों के खिलाफ किसान 13 फरवरी सभी राज्यों की राजधानी, ज़िला और तहसील मुख्यालयों पर अंतरिम बजट की प्रति जला कर विरोध प्रदर्शन करेंगे।