नई दिल्ली: राष्ट्रीय राजधानी और तमिलनाडू के 100 से अधिक लोगों के समुद्र में डूबने की आशंका जाहिर की जा रही है। दरअसल ये नाव पर सवार होकर न्यूजीलैंड जा रहे थे। बीच समुद्र में ये नाव लापता हो गई। आशंका जाहिर की जा रही है कि नाव डूब गई है। पुलिस को 70 से अधिक सामानों वाले बैग मिले हैं।

फिशिंग बोट पर सवार सभी भारतीय 12 जनवरी को केरल के मुनामबाम हार्बर से निकले थे। भारतीय पुलिस फिलहाल मामले की जांच कर रही है। मामले में दो अधिकारियों के शामिल होने की बात भी कही जा रही है।

दिल्ली पुलिस ने इस सिलसिले में प्रभु धांडापानी नाम के शख्स को गिरफ्तार किया है। गिरफ्त में आए अधिकारियों ने जानकारी दी कि फिशिंग बोट न्यूजीलैंड के लिए रवाना हुई थी।

यह भी पढ़ें

बांग्लादेश में रोहिंग्या शरणार्थियों से भरी नाव डूबी, 8 की मौत

लापता लोगों में महिलाएं और बच्चे भी शामिल हैं। पुलिस को समुद्र से जो सामान मिले हैं उनमें 20 की शिनाख्त कर ली गई है। बरामद सामानों से पता चलता है कि बोट पर सवार सभी लोग लंबी यात्रा के हिसाब से चीजें लेकर चले थे।

हालांकि नाव डूबने की पुष्टि अभी तक नहीं हुई है। ऐसा भी माना जा रहा है कि ये नाव बीच समुद्र में ही कहीं फंसी हो। इंडियन कोस्ट गार्ड की टीम नाव की खोज में जुटी हुई है।

दरअसल भारतीय तट से न्यूजीलैंड जाने के लिए 7000 मील की समुद्री यात्रा तय करनी होती है। ये सफर दुनिया की मुश्किल यात्राओं में माना जाता है। समुद्र में तूफान और बारिश को झेलते हुए इस कठिन यात्रा को पूरा करना चुनौती भरा है। खासकर इंडोनेशिया से ऑस्ट्रेलिया के समुद्री यात्रा में कई मुश्किलों का सामना करना पड़ता है।

भारतीय एजेंसियां लापता लोगों के घरवालों से संपर्क करने की कोशिश कर रही है। साथ ही न्यूजीलैंड आव्रजन अधिकारी की मदद भी ली जा रही है।