बेंगलुरु : कर्नाटक विधानसभा चुनाव के सात महीने बाद भी पूर्व सीएम बीएस येदियुरप्पा ने हार नहीं मानी है। भले ही वह राज्य में सरकार ना बना पाए हों लेकिन उन्होंने कोशिश करना नहीं छोड़ा है, लेकिन उन्हें पूरा यकीन है कि वह सत्ता में जरूर आएंगे, और इस यकीन के पीछे हैं उनके ज्योतिषी के द्वारा की गई भविश्यवाणी।

जी, हां, येदियुरप्पा के ज्योतिषी ने उन्हें भरोसा दिलाया है कि अभी उनके सीएम बनने की संभावनाएं खत्म नहीं हुई हैं। इसलिए बीएस येदियुरप्पा मैदान में डटे हुए हैं। दरअसल, उनके ज्योतिषी ने बताया है कि उनके गृहों की चाल ऐसी है कि 15 जनवरी के बाद से उन्हें सत्ता में आने से कोई नहीं रोक सकता है। भलेहि कुछ समय तक कुछ बाधाओं के कारण टल जाय।

वैसे कर्नाटक में चले लंबे सियासी घमासान के बाद भाजपा का ऑपरेशन लोटस विफल हो गया है। ऐसे में कांग्रेस के जो विधायक पार्टी छोड़कर भाग रहे थे, वे वापस होते दिख रहे हैं।

बता दें कि राज्य में विधायकों की 224 की संख्या को घटाकर 211 तक लाना था। जिसके लिए कम से कम कांग्रेस के 14 विधायक अपने पद से इस्तीफा दें.. लेकिन बागी नेताओं को इस बात की भनक लगी कि उनके इस्तीफे से फर्क नहीं पड़ेगा, क्योंकि उनकी संख्या केवल 4 से 5 ही बची हुई है।

इसे भी पढ़ें :

कर्नाटक में सियासी दुकानदारी, एक MLA का दाम 60 करोड़ रुपए और मंत्री पद

येदियुरप्पा ने चुनाव आयोग से की शिकायत, कहा- कर्नाटक चुनाव में हुई धांधली

गुरुवार को येदियुरप्पा ने बंगलुरू में कहा था कि वे या उनका कोई भी सांसद ऑपरेशन लोटस में शामिल नहीं है।

वहीं कांग्रेस और जेडीएस का कहना है कि बीजेपी अपने आपसी विवादों को छुपा रही है जबकि वह अपने सांसदों को एक साथ रख ही नहीं पा रही है। इसलिए इस तरह की हरकतों को बढ़ावा दे रही है।