कोलकाता: जाधवपुर विवि प्रशासन ने विवादित बयान देने वाले अपने प्राध्यापक प्रोफेसर कनक सरकार को अध्यापन कार्य से अलग कर दिया है। छात्रों-शिक्षकों की एक कमिटी की अनुशंसा पर ये कार्रवाई की गई है। आगामी 18 जनवरी को होने वाली बैठक में हो सकता है कनक सरकार को यूनिवर्सिटी से निकालने का फैसला ले लिया जाय। डिपार्टमेंट ऑफ इंटरनेशनल रिलेशन्स के हेड प्रमुख प्रोफेसर ओमप्रकाश मिश्रा के हस्ताक्षर से पत्र जारी किया गया है।

बता दें कि प्रतिष्ठित जाधवपुर विवि के प्राध्यापक कनक सरकार ने फेसबुक पर कुंवारी लड़कियों को ‘सीलबंद’ बोतल बताया था। साथ ही युवाओं को समझाने की कोशिश की थी कि वर्जिन पत्नियों को जीवन में क्या महत्व होता है।

यह भी पढ़ें:

“कुंवारी लड़की होती है सीलबंद बोतल की तरह”, जाधवपुर यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर ने जाहिर की राय

कनक सरकार के विचारों को बेहद ओछा बताया गया। साथ ही युवाओं ने आश्चर्य व्यक्त किया कि कैसे एक यूनिवर्सिटी का प्रोफेसर इतने छिछले विचारों को सोशल मीडिया में रख सकता है।

हालांकि विवाद बढ़ने के बाद कनक सरकार ने अपना पोस्ट हटा दिया था। बावजूद इसके यूनिवर्सिटी कैंपस में लागातार छात्राएं प्रोफेसर के खिलाफ प्रदर्शन कर रही थीँ। आखिकार दबाव के आगे यूनिवर्सिटी ने फैसला लिया और सरकार को फिलहाल कक्षाओं में जाने से रोका गया है।