उत्तराखंड के इन दो शहरों में सिगरेट पीने वालों की खैर नहीं, पर्यटकों के लिए नई पहल 

कान्सेप्ट फोटो - Sakshi Samachar

देहरादून : उत्तराखंड सरकार ने एक नई पहल की है और पहाड़ों की रानी कही जाने वाली मसूरी में धूम्रपान को पूरी तरह प्रतिबंधित करने के बाद ऋषिकेश में भी धूम्रपान पूरी तरह प्रतिबंधित करने की तैयारी शुरू हो गयी है। इसके साथ ही साथ राज्य के अन्य पर्यटक स्थलों पर भी धूमपान करने वालों पर शिकंजा कसने की पहल की जा रही है।

उत्तराखंड में तम्बाकू नियंत्रण प्रकोष्ठ ने तंबाकू नियंत्रण अधिनियम 2003 के तहत कार्रवाई में तेजी लाने का फैसला किया गया है और राज्य में पर्यटकों को एक बेहतर माहौल देने की कोशिश के तहत ऐसी कार्रवाई की जा रही है।

इसे भी पढ़ें :

उत्तराखंड ने ओढ़ी बर्फ की चादर, तस्वीरों में देखें कैसे सफेद हुई पहाड़ों की ‘रानी

ऐसा भी कहा जाता रहा है कि सरकारी दावे चाहे जो भी रहें पर प्रदेश में सार्वजनिक जगहों पर अभी धूम्रपान पर पूरी तरह रोक लगाने में विभाग असफल साबित होता दिख रहा है।

आपको बता दें कि देहरादून जिले में तंबाकू नियंत्रण प्रकोष्ठ ने 183 शिक्षण संस्थानों को पूरी तरह तंबाकू मुक्त करने के लिए स्कूल प्रबंधनों से वार्ता की है। इसके बाद प्रदेशभर में तंबाकू मुक्त उत्तराखंड का अभियान चलाने पर भी विचार किया जाएगा।

तंबाकू नियंत्रण प्रकोष्ठ के कड़े नियम के बावजूद तमाम शिक्षण संस्थाओं के पास ही तंबाकू खुलेआम बेचा रहा है। स्थानीय लोगों के साथ साथ स्कूल प्रबंधन के द्वारा भी शिकायतें भी की जाती हैं। बावजूद इसके कार्रवाई नहीं की जाती है।

Advertisement
Back to Top