नई दिल्ली : संसद का बजट सत्र 31 जनवरी से 13 फरवरी तक चलेगा और वित्त मंत्री अरुण जेटली 1 फरवरी को अंतरिम बजट पेश करेंगे। सरकार के सूत्रों के हवाले से यह जानकारी मिली है।

बताया जा रहा है कि कैबिनेट कमिटी और पॉलिटिकल अफेयर्स (CCPA) ने बैठक में बजट सेशन की तारीख तय की। इस लोकसभा का आखिरी संसद सत्र है। क्योंकि अप्रैल-मई में आम चुनाव कराए जा सकते हैं।

अंतरिम बजट पूरे साल के बजट की तरह ही होता है जिसमें उस वर्ष के सभी खर्चों का ब्योरा पेश किया जाता है। यह बजट सरकार के लिए इस लिए महत्वपूर्ण है क्योंकि चुनाव से पहले कुछ लोकप्रिय घोषणाएं की जा सकती हैं। हालांकि चुनाव के साल में अंतरिम बजट में सीमित समय के लिए जरूरी सरकारी खर्च की अनुमति होती है और इसके बाद नई सरकार पूरा बजट पेश करती है।

इसे भी पढ़ें :

राहुल को जेटली का जवाब, “कुछ परिवारों को समझ में आता है सिर्फ पैसे का गणित”

आपको बता दें कि साल 2014 में तत्कालीन वित्त मंत्री पी चिदंबरम ने यूपीए सरकार का अंतरिम बजट पेश किया था। उसी साल जुलाई में एनडीए की सरकार बनने के बाद वित्त मंत्री अरुण जेटली ने पूरा बजट पेश किया था।