श्योपुरः मध्य प्रदेश के जिला श्योपुर में रहने वाले एक किसान को गांववालों द्वारा गांव से बेदखल करने पर बवाल मच गया है। किसान और उसके परिवारवालों को गांव से इसलिए बेदखल किया गया है क्योंकि उनके द्वारा एक गाय की गलती से मौत हो गई थी। जिसके बाद नाराज गांववालों ने किसान और उनके परिवार को गांव से बाहर निकालने का फरमान सुनाया।

ये है पूरा मामला

दरअसल यह पूरा मामला मध्य प्रदेश में उस समय चर्चा में आया जब गांव की पंचायत ने गांव के रहने वाले 36 साल के किसान पप्पू प्रजापति को पूरे परिवार समेत गांव से निष्कासित करने का आदेश दिया। पीड़ित किसान पप्पू ने बताया कि उसके द्वारा अपनी ट्रैक्टर-ट्रॉली को पार्क करते समय उनके द्वारा अनजाने में वहां बैठी एक गाय को टक्कर लग गई।

जिससे गाय की मौके पर ही मौत हो गई। जिसके बाद गाय की मौत से नाराज गांववालों ने पंचायत बुलाई। और सजा के रूप में पप्पू को उसके परिवार समेत गांव से बाहर निकालने का फरमान सुनाया गया।

इसे भी पढ़ेंः

राजभर की भाजपा को चेतावनी, उत्तर प्रदेश में ओबीसी को नहीं दिया आरक्षण तो छोड़ देंगे NDA

पीड़ित पप्पू ने बताया कि उसने इसके लिए पंचायत से रहम की भीख मांगी। जिसपर पंचायत ने कहा कि चुंकि पप्पू गौ हत्या का दोषी पाया गया है इसलिए उसे दण्ड स्वरूप परिवार समेत गंगा स्नान करके और कन्या और ब्राह्मण भोज के बाद सामूहिक भोज का आयोजन करने से साथ ही एक गाय का दान देने के बाद ही गांव में घुसने की इजाजत दी जाएगी।

इस मामले को लेकर हालांकि प्रशासन ने सफाई दी है कि उसे इस बारे में अभी तक कोई शिकायत नहीं मिली है।