नहीं रहे कादर खान, इस बात पर हुआ था अमिताभ से झगड़ा

कादर खान व अमिताभ: फाइल फोटो - Sakshi Samachar

मुंबई. दिग्गज अभिनेता कादर खान (Kader Khan) के निधन के बाद पूरा बॉलीवुड शोक में डूबा है। कादर खान के बेटे सरफराज खान ने पिता के निधन की पुष्टि की है। अमिताभ बच्चन ने ट्वीट कर कादर को अपना करीबी दोस्त बताया। हम दिवंगत खान और अमिताभ के रिश्तों की इज्जत करते हुए पुराने किस्से यहां शेयर कर रहे हैं।

लंबे समय तक अमिताभ और कादर खान के रिश्ते खराब रहे हैं। इस बारे में कादर खान ने इंटरव्यू में खुलासा भी किया था। कादर के मुताबिक वे नहीं चाहते थे कि अमिताभ राजनीति में प्रवेश करें। इसको लेकर दोनों के बीच बहस भी हुई।

बकौल कादर खान जब अमिताभ सांसद बनकर दिल्ली गए थे तो कादर खुश नहीं थे। उन्हें लगता था कि राजनीति अच्छी जगह नहीं है और वो लोगों को खराब कर देती है। जैसी आशंका थी कादर को वही हुआ भी। बतौर सांसद अमिताभ बच्चन का बदला हुआ व्यवहार उन्हें रास नहीं आया। इस तरह दोनों अभिनेताओं के रिश्तों में तल्खी आनी शुरू हो गई। एक तरह से कहें तो दोनों दिग्गज अभिनेता एक दूसरे से झगड़ पड़े थे।

यह भी पढ़ें:

कनाडा में कादर खान का निधन,  बेटे सरफराज ने की पुष्टि

एक दौर था जब अमिताभ बच्चन बेहद सफल थे। तब लोग अमिताभ को 'सरजी' जैसे उपनाम से बुलाने लगे। ऐसी ही एक पार्टी में जब अमिताभ पहुंचे तो लोगों ने कहा कि देखो सरजी आ गए। इस पर कादर ने सबके बीच बोल दिया कि ये सरजी कब से हो गए। मेरे लिए तो वहीं पुराने वाले अमिताभ हैं।

अमिताभ बच्चन भी कादर खान की लेखनी का लोहा मानते हैं। 'मुकद्दर का सिकंदर', 'नसीब' और 'अग्निपथ' जैसी फिल्मों में कादर ने डायलॉग्स लिखे थे। मजे की बात ये कि रिश्तों में गर्माहट नहीं होने के बावजूद दोनों अभिनेता एक दूसरे को सबसे अच्छा दोस्त मानते रहे।

कादर खान के निधन पर अमिताभ ने जताया शोक

मेगास्टार अमिताभ बच्चन ने जाने माने अभिनेता एवं लेखक कादर खान के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए उन्हें सबसे प्रतिभाशाली व्यक्ति बताया। लंबे समय से बीमार चल रहे कादर खान का 31 दिसम्बर को निधन हो गया था। बच्चन और खान ने ‘दो और दो पांच', ‘मुकद्दर का सिकन्दर', ‘मिस्टर नटवरलाल', ‘सुहाग', ‘कुली' और ‘शहंशाह' जैसी फिल्मों में एक-साथ काम किया। बिग बी ने ट्विटर पर लिखा, ‘‘कादर खान का निधन हो गया। दुखद खबर। मेरी प्रार्थनाएं और संवेदनाएं। बेहतरीन मंच कलाकार, सबसे करुणामय और फिल्मों के सबसे प्रतिभाशाली।'' उन्होंने लिखा, ‘‘मेरी अधिकतर सफल फिल्मों के प्रख्यात लेखक। बेहतरीन साथी और एक गणितज्ञ।'' खान कनाडा के एक अस्पताल में भर्ती थे और उनका अंतिम संस्कार भी वहीं किया जाएगा। उनके बेटे ने अभिनेता के निधन की खबर की पुष्टि की है।

खान को सांस लेने में तकलीफ हो रही थी और डॉक्टर उन्हें नियमित वेंटीलेटर और बीपीएपी वेंटीलेटर पर रख रहे थे। अभिनेता मनोज बाजपेयी ने भी उन्हें श्रद्धांजलि दी है। वाजपेयी ने लिखा, ‘‘भगवान आपकी आत्मा को शांति दे कादर खान साहब।''

Advertisement
Back to Top