नई दिल्ली: तेलंगाना के मुख्यमंत्री केसीआर ने मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा से नई दिल्ली में मुलाकात की। तेरास प्रमुख ने सीईसी से किसी भी अन्य पार्टी को ट्रक चुनाव चिह्न नहीं देने की गुजारिश की। दरअसल टीआरएस का चुनाव चिह्न कार है। ऐसे में मिलते जुलते सिंबल से मतदाता भ्रमित हो सकते हैं। लिहाजा सीएम केसीआर ने आगामी लोकसभा चुनाव को लेकर मुख्य चुनाव आयुक्त को आगाह किया।

साथ ही केसीआर ने तेलंगाना में बड़ी संख्या में लोगों के नाम वोटर लिस्ट से गायब होने की मुख्य चुनाव आयुक्त से शिकायत की। साथ ही आगामी लोकसभा चुनाव के मद्देनजर मतदाता सूची को दुरुस्त करने की मांग की।

बाद में मतदाताओं से बातचीत में केसीआर ने कहा कि हाल के विधानसभा चुनाव में तेरास के कई उम्मीदवारों को नुकसान उठाना पड़ा, क्योंकि उनके क्षेत्र में किसी स्वतंत्र उम्मीदवार को ट्रक पार्टी सिंबल के तौर पर दे दिया गया था। केसीआर ने इसे पार्टी के कुछ उम्मीदवारों की हारने की वजह बताया। बता दें तेलंगाना राष्ट्र समिति का चुनाव चिह्न कार है।

यह भी पढ़ें:

फेडरल फ्रंट: केसीआर की कोशिशों को धक्का, नहीं मिले अखिलेश और मायावती

वहीं तेलंगाना के मुख्य निर्वाचन अधिकारी रजत कुमार ने भी माना कि बड़ी संख्या में लोगों के वोटर लिस्ट में नाम नहीं होने की शिकायत की गई है। हालांकि रजत कुमार ने दावा किया कि शिकायत करने वालों में ज्यादातर के नाम मतदाता के तौर पर पंजीकृत नहीं हैं।