भोपाल : मध्य प्रदेश में कमलनाथ कैबिनेट का गठन हो गया है। कमलनाथ के नए मत्रिमंडल में 28 विधायको को मंत्री बनाया गया है। सभी ने पद एवं गोपनीयता की शपथ ले ली है। कमलनाथ के इस मंत्रीमंडल में दिग्विजय के बेटे जयवर्धन सिंह को भी मंत्री बनाया गया है।

बताया जा रहा है कि मंत्रीमंडल में दिग्विजय सिंह और ज्योतिरादित्य सिंधिया के करीबियों को शामिल किया गया है। सीएम कमलनाथ ने मंगलवार शाम 5 बजे कैबिनेट की मीटिंग भी बुलाई है। बताया जा रहा है कि यह मीटिंग अनौपचारिक होगी।

ये बने मंत्री

कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष शिव डहरिया को कैबिनेट मंत्री बनाया गया हैं। डहरिया सतनामी समाज के नेता हैं। अनिला भेड़िया - दूसरी बार विधायक चुनी गई हैं। जयसिंह अग्रवाल लगातार तीन बार कोरबा विधानसभा सीट से विधायक चुनकर आए हैं। रुद्र गुरू दूसरी बार विधायक बने हैं। इनके अलावा धर्मगुरू उमेश पटेल लगातार दूसरी बार विधायक बने। पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष स्व. नंद कुमार पटेल के बेटे हैं। रायगढ़ जिले की खरसिया विधानसभा सीट से पूर्व आईएएस ओपी चौधरी को करारी मात दी थी।

इसे भी पढ़ें

मध्य प्रदेश में कमलनाथ इन चेहरों को दे सकते हैं ‘क्रिसमस’ गिफ्ट, शपथ ग्रहण की तैयारी शुरू

इन विधायकों को भी दिलाई गई मंत्री पद की शपथ

मध्य प्रदेश में सज्जन वर्मा ने मंत्री पद की शपथ ली, सोनकच्छ सीट से विधायक चुने गए हैं। शाजापुर सीट से विधायक हुकुम सिंह कराड़ा ने भी कैबिनेट पद की शपथ ली, लगातार पांचवी बार विधायक चुन कर आए हैं। दिग्विजय सिंह के करीबी डॉक्टर गोविंद सिंह ने भी मंत्री पद की शपथ ली। कमलनाथ के करीबी बाला बच्चन भी मध्य प्रदेश सरकार में मंत्री बन गए हैं. भोपाल उत्तर से विधायक आरिफ अकील भी मंत्री बने।